भैरवगढ़ स्थित साडू माता मंदिर सड़क के मोड़ पर सो रहे 3 मजदूरों को ट्रक ने रौंदा


      उज्जैन। जैसलमेर से लौटे तीन मजदूरों को एक ट्रक ने कुचल दिया। दुर्घटना मंगलवार रात 3 बजे की है। मजदूर भैरवगढ़ स्थित साडू माता मंदिर सड़क के मोड़ पर सो रहे थे। इस‌ दौरान ट्रक ने उन्हें रौंद दिया।


      राजस्थान में फंसे मध्य प्रदेश के मजदूरों को लाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा हाल ही में बसें भेजी गई थीं। इसी में उज्जैन के मोहनपुरा गांव में रहने वाले 12 मजदूर जैसलमेर से लौटे थे। वहां से आने के बाद मजदूरों ने जब घर जाने के लिए गांव में प्रवेश करना चाहा तो गांव वालों ने उन्हें बगैर कोरोना संक्रमण की जांच के आने देने से मना कर दिया। एएसपी रूपेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि इसके बाद यह सभी मजदूर वहां से पैदल ही आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज जांच के लिए पहुंचे थे।


      भैरवगढ़ स्थित साडू माता मंदिर के पास सड़क किनारे सो गए थे। रात्रि 3 बजे के करीब इंदौर से मैदा भरकर ट्रक क्रमांक एमपी 09- एच एच-2669 आगर की ओर जा रहा था। ट्रक के ड्राइवर ने सो रहे मजदूरों को कुचल दिया। दुर्घटना में मोहनपुरा निवासी विक्रम पिता मोती सिंह उम्र 65 वर्ष, भूली पति विक्रमसिंह उम्र 55 वर्ष तथा बद्रीलाल पिता कैलाश बंजारा की मौत हो गई। चालक फरार है।