आज की बात आपके साथ - विजय निगम

प्रिय साथियो,


🌹राम-राम🌹 
🌻 नमस्ते।🌻


 ।🌾। आज की बात आपके साथ।🌾।



आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 15 अप्रेल   2020  बुधवार   की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।
🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻
आज की बात आपके साथ  अंक मे है 


 A कुछ रोचक समाचार
B आजके दिनजन्म लिये सिक्ख धर्म गुरु
 गुरु नानक जी का जीवन परिचय  लेख. 
C आज के दिन   की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    
    व्यक्तित्व
E आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
F आज का दिवस का नाम ।
💐🎂💐@🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂
   (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)
💐(A/1)महाराष्ट्र: लॉकडाउन का 21वां दिन / मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर पहुंचे। हजारोंप्रवासी मजदूर, पुलिस से कहा-हमें
अपने गांव जाने दो; पुलिस ने लाठी चार्ज
कर खदेड़ा💐
💝(A/2)भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान विभाग (ISRO) में सरकारी नौकरी का मौका, 2 लाख रुपये तक मिलेगी सैलरी, जल्द करें आवेदन|💝
  (A/3) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने  💐(Coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा देशभर में लागू किया गया 21 दिन का लॉकडाउन (Lockdown)💐
💐(A/4)मध्य प्रदेश /शिवराज की कैबिनेट इसी हफ्ते बनेगी;26 सदस्यीय मंत्रिमंडल होगा,सिंधिया समर्थक 10 नेताओं को मंत्री बनाए जाने की संभावना
💐🎂💐@🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂
💐(A) कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)💐


💐(A/1) महाराष्ट्र: लॉकडाउन का 21वां दिन/ मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर पहुंचे। हजारोंप्रवासी मजदूर, पुलिस से कहा-हमें अपने गांव जाने दो; पुलिस ने लाठी चार्ज
कर खदेड़ा💐
💐मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर मंगलवार शाम करीब 5 बजे हजारों लोगों की भीड़ जमा हो गई।💐
💐संक्रमितों की संख्या बढ़ने से धारावी को सील किया गया, अभी तक हजारों लोगों की स्क्रीनिंग हुई।💐
मुंबई. महाराष्ट्र कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच, मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर हजारों लोगों की भीड़ जमा हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन लोगों का कहना है कि हमारे पास खाने को कुछ नहीं है। हमें अपने गांव वापस जाने दिया जाए। पुलिस प्रशासन ने इन लोगों को समझाने की कोशिश की और इन पर लाठीचार्ज भी करना पड़ा।
         इस घटना के बाद गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि मंगलवार शाम करीब 4 बजे हजारों लोग बांद्रा स्टेशन के बाहर जमा हो गए थे। ये सभी मजदूर थे और लॉकडाउन के चलते अपने घरों में मौजूद थे। उन्हें भरोसा था कि लॉकडाउन खत्म हो जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ इसलिए वह अधीर होकर घरों से बाहर निकल आए और अपने राज्य या अपने गांव जाने की मांग करने लगे। फिलहाल वहां से सारी भीड़ डिस्पर्स हो चुकी है और हम उनके खाने-पीने का इंतजाम कर रहे हैं।
 💐सरकार का लाठीचार्ज से इनकार💐
देशमुख नेमजदूरों पर लाठीचार्ज कीघटना
से इनकार किया।उन्होंने कहा कि सरकार 
के नुमाइंदों और पुलिसकर्मियों नेउन्हें सम
-झाने में कामयाबी हासिल की है और वे सभी शांतिसेवहां से चले गए लेकिन,मौके 
से मिली जानकारी के मुताबिक, लोगों को खदेड़ने केलिए पुलिस नेलाठीचार्जकिया। साथ ही पूरे इलाके को खाली कराने के लिए भीबल प्रयोग किया गया।मुंबई में अलग-अलग राज्यों से आकर लाखों मज
-दूर काम करते हैं।
💐भाजपा का आरोप- सरकार ने इंतजाम नहीं किए💐
भाजपा विधायक आशीष शेलार नेआरोप
 लगाया है कि राज्य सरकार विस्थापित मजदूरों के लिए सही इंतजाम नहीं कर पा रही है। इसी से डरे मजदूर आज सड़कों पर उतर आए।
 💐आदित्य ने केंद्र पर निशाना साधा💐
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटेआदित्य ठाकरे ने इस घटना की तुलना सूरत से करते हुए केंद्र सरकार पर हमला बोला है।वहीं,मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,सीए 
उद्धव ठाकरे इस घटना को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं।
          💐कोरोना अपडेट्स💐
स्लम एरिया धारावी में मंगलवार को कुछ नए कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं,  बीएमसी के अनुसार, इसके बाद इस झुग्गी-बस्ती इलाके में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ गई है।पूरे इलाके को सील कर दियागया है।यहां हजारों लोगोंकी स्क्रीनिंग की गई है।
मुंबई केज्यादा प्रभावितइलाके वर्लीकोली
वाड़ा इलाकेकोबीएमसी ने 'कंटेनमेंटजोन'
 घोषित कर दिया है। लोगों के यहां घरों से निकलने पर पाबंदी लगा दी गई है। राज्य सरकार ने यहां पहले ही लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ा चुकी है।
महाराष्ट्र के आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड से जुड़े कई लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। आव्हाडने खुद को क्वारैंटाइन कर लिया है। मंत्री से जुड़े जिन लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है,उनमें  उनकी सुरक्षा में रहे  5 पुलिसकर्मी,बंगले पर काम करने वाला
रसोइया,सफाई कामगारबंगले परकार्यरत 
स्टाफ औरअन्य कर्मचारी शामिल हैं।
💐रत्नागिरी: 6 महीने के बच्चा मिला संक्रमित💐
महाराष्ट्र के रत्नागिरी में एक 6 महीने के बच्चे में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही अब यहां कुल संक्रमितों की संख्या छह पहुंच गई है। बच्चा मां से संक्रमित हुआ है। इससे पहले मां की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
बीड में भी पिछले 12 घंटों में दो कोरोना संदिग्धों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग इनकी जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही शव के दाह संस्कार की प्रक्रिया की जाएगी।
💐मुंबई:बेस्ट की बसों से होगी फूड पैकेट्स की सप्लाई💐
मुंबई मेंबेस्ट की एसी मिनी बसों से हर दिन 80 हजार फूड पैकेट्स गरीबों तक पहुंचाएजाएंगे। बीएमसी के मुताबिक,एक बस एक ट्रिप में 1500 पैकेट्स पहुंचाने में सक्षम है। अगर बस की सीटों को हटा दिया जाए तो 5 हजार पैकेट भी रखे जा सकते हैं। पहले चरण में मुंबई के स्लम एरिया में इसे शुरू किया गया है।
 मुंबई में बीएससी ने गरीब तबके तक
खाना पहुंचाने के लिए बसको मोडिफाई
किया है। इन बसों में फूड पैकेट रखकर इन्हें बंटवाया जाता है।
    यहांआईबीएससोसाइटी ने गेट में ही सैनिटाइजेश की व्यवस्था कर रखी है। जो भी व्यक्ति कॉलोनीके अंदर आता है उसे पहले सैनिटाइज किया जाता है।
💐अब तक58 लापता जमातियों में से 40 की तलाश💐
दिल्ली केनिजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में भाग लेकर लौटे 58 लापता लोगों में से 40 का पतालगा लिया गया है।इन्हें आइसोलेशन में भेज दिया गया है। शेष 18जमातियों को पुलिस ढूंढने की कोशिश पुलिस कर रही है। यह जानकारीराज्य के गृह मंत्रीअनिलदेशमुख
ने दी। उन्होंने बताया कि राज्य से 1,409 लोग मरकज में हिस्सा लेने गए थे। बाकी का पहले ही पता लगाया जा चुका था।प्रदेश केउच्च व तकनीकी शिक्षामंत्री उदय सामंतनेस्पष्टकिया हैकिराज्य केविश्वविद्या
-लयों औरमहाविद्यालयों कीपरीक्षाएं रद्दनहीं की गई हैं।सामंतने कहा:विश्व
विद्यालयो  महाविद्यालयों  के परीक्षा के
आयोजन के संबंध में कुलपतियों की समिति गठित की गई है।इस समिति की रिपोर्ट आने के बाद राज्य में कोरोना के प्रकोप की स्थिति को देखते हुए अगला फैसला किया जाएगा।
           पुणे के ग्रामीण पुलिस अधीक्षक संदीप पाटिल की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।संक्रमण के चलते पाटिल घर के बाहर ही खाना खाते हैंऔर
वापस ड्यूटी पर चले जाते हैं।
💐🎂💐@🎂💐🎂💐🎂💐🎂


💝(A/2)भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान विभाग (ISRO) में सरकारी नौकरी का मौका, 2 लाख रुपये तक मिलेगी सैलरी, जल्द करें आवेदन|💝
ISRO Recruitment 2020: भारतीय अंतरिक्षअनुसंधान विभाग (ISRO)नेअंत
रिक्ष उपयोग केंद्र (SAC) में निकाली गई वैकेंसी के लिए आवेदन की तारीख को बढ़ा दिया है।ऐसे में अबभी उम्मीदवार इन
पदों पर आवेदन कर सकते हैं.चयनित उम्मीदवारों को 2 लाख रुपये तक की सैलरी मिलेगी.
💐Sarkari Naukri 2020 ;ISRO💐 
ISRO Recruitment 2020: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान विभाग (ISRO) में ने अंतरिक्ष उपयोग केंद्र (SAC) में निकाली गई वैकेंसी के लिए आवेदन की तारीख को बढ़ा दिया है.ऐसे में अबभी उम्मीदवार इन पदों पर आवेदन कर सकते हैं. आवेदन की नई तारीख 1 मई निर्धारित की गई है. इस वैकेंसी के तहत ISRO साइंटिस्ट/इंजीनियर, टेक्निकल असिस्टेंट, टेक्नीशियन के पदों पर उम्मीदवारों का चयन करेगा.


💐10वीं पास भीकरसकते हैंआवेदन💐


नोटिफिकेशन के मुताबिक इन भर्तियों के लिए 10वीं पास से लेकर डिग्री होल्डर्स तक अप्लाई कर सकते हैं. क्योंकि अलग-अलग पदों पर अलग-अलग योग्यता व शर्तें रखी गई हैं. साइंटिस्ट/इंजीनियर के पद पर निकली वैकेंसी के लिए उम्मीदवार के पास इंजीनियरिंग की मास्टर डिग्री का होना आवश्यक है. टेक्निकल असिस्टेंट के लिए संबंधित विषय में डिप्लोमा होना चाहिए और टेक्नीशियन व ड्राफ्टमैन के पदों पर आवेदन के लिए उम्मीदवार का 10वीं पास होना आवश्यक है. साथ ही उसके पास संबंधित विषय में ITI सर्टिफिकेट का होना भी अनिवार्य है.
           💐पदों का विवरण💐


1. साइंटिस्ट/इंजीनियर- 21 पद


2. टेक्निकल असिस्टेंट- 06 पद


3. टेक्नीशियन- 25 पद


4. ड्राफ्टमैन- 03 पद


सभी पदों पर अलग-अलग आयु सीमा निर्धारित की गई है. इसके तहत 18 वर्ष से लेकर 35 वर्ष तक के युवा अप्लाई कर सकते हैं. उम्मीदवारों का चयन लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के आधार पर किया जाएगा .
इस भर्ती प्रक्रिया में चयनित उम्मीदवारों को पद के अनुसार निर्धारित वेतन दिए जाएंगे. इसमें उम्मीदवार 2,08,700 रुपये प्रति माह तक का वेतन पा सकते हैं. इस भर्ती के लिए किसी प्रकार का कोई आवेदन शुल्क नहीं देना होगा।
💐🎂💐@🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂
 💐(A/3) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  (Coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा देशभर में लागू किया गया 21 दिन का लॉकडाउन (Lockdown) आज खत्म होने जा रहा है. लॉकडाउन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर राष्ट्र के नाम संबोधित किया. पीएम ने लॉकडाउन को 3 तक बढ़ाने का फैसला लिया. पीएम मोदी ने कहा, ''नमस्ते मेरे प्यारे देशवासियों, कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई, बहुत मजबूती के साथ आगे बढ़ रही है. आपकी तपस्या, आपके त्याग की वजह से भारत अब तक, कोरोना से होने वाले नुकसान को काफी हद तक टालने में सफल रहा है. आप लोगों ने कष्ट सहकर भी अपने देश को बचाया है. हमारे इस भारतवर्ष को बचाया है. मैं जानता हूं. आपको कितनी दिक्कतें आई हैं, किसी को खाने की परेशानी, किसी को आने जाने की परेशानी, कोई घर परिवार से दूर है, लेकिन आप देश के खातिर एक अनुशासित सिपाही की तरह अपने कर्तव्य निभा रहे हैं. मैं आप सबको आदर पूर्वक नमन करता हूं.''
प्रधानमंत्री ने कहा, ''साथियों, सारे सुझावों को ध्यान में रखते हुए ये तय किया गया है कि भारत में लॉकडाउन को अब 3 मई तक और बढ़ाना पड़ेगा. यानि 3 मई तक हम सभी को, हर देशवासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा. इस दौरान हमें अनुशासन का उसी तरह पालन करना है, जैसे हम करते आ रहे हैं. मेरी सभी देशवासियों से ये प्रार्थना है कि अब कोरोना को हमें किसी भी कीमत पर नए क्षेत्रों में फैलने नहीं देना है. स्थानीय स्तर पर अब एक भी मरीज बढ़ता है तो ये हमारे लिए चिंता का विषय होना चाहिए. इसलिए हमें Hotspots को लेकर बहुत ज्यादा सतर्कता बरतनी होगी. जिन स्थानों के Hotspot में बदलने की आशंका है उस पर भी हमें कड़ी नजर रखनी होगी. नए Hotspots का बनना, हमारे परिश्रम और हमारी तपस्या को और चुनौती देगा.''
पीएम मोदी ने कहा, ''अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कठोरता और ज्यादा बढ़ाई जाएगी. 20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने, हर जिले, हर राज्य को परखा जाएगा, वहां लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, उस क्षेत्र ने कोरोना से खुद को कितना बचाया है, ये देखा जाएगा. जो क्षेत्र इस अग्निपरीक्षा में सफल होंगे, जो Hotspot में नहीं होंगे, और जिनके Hotspot में बदलने की आशंका भी कम होगी, वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है. इसलिए, न खुद कोई लापरवाही करनी है और न ही किसी और को लापरवाही करने देना है. कल इस बारे में सरकार की तरफ से एक विस्तृत गाइडलाइन जारी की जाएगी.''
उन्होंने कहा, ''वी द पीपल ऑफ इंडिया, बाबा भीमराव अंबेडकर की जन्मदिवस पर अपनी सामूहिक संकल्प का प्रदर्शन यह सच्चीश्रद्धांजलि हैमैं सभीदेशवासियों
की तरफ से बाबा साहब को नमन करता हूं. मैंनएवर्ष परआपकेऔरआपकेपरिवार
जन के उत्तम स्वास्थ्य की मंगलकामना करता हूं।.''
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ''अन्य देशों के मुकाबले भारत ने कैसे अपने यहां संक्रमण को रोकने के प्रयास किए हैं. आप इसके सहभागी भी रहे हैं और साक्षी भी. जब हमारे यहां कोरोना का एक भी केस नहीं था, उससे पहले ही कोरोना प्रभावित आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग शुरू कर दिया था. विदेश से आने वाले लोगों को 14 दिन का आइसोलेशन शुरू कर दिया गया था. जब हमारे यहां कोरोना के सिर्फ 550 केस थे, तभी भारत ने 21 दिन का लॉकडाउनक का बहुत बड़ा कदम उठा लिया था. भारत ने समस्या बढ़ने का इंतजार नहीं किया, बल्कि समस्या दिखने पर तेजी से फैसले लेकर उसी समय रोकने का भरसक प्रयास किया.''
पीएम मोदी ने कहा, ''साथियों यह एक ऐसा संकट है, जिसे किसी भी देश के साथ तुलना करना सही नहीं है, लेकिन अगर-अगर दुनिया के बड़े-बड़े सामर्थ्यवान देशों की तुलना में भारत बहुत संभली हुई स्थिति में है. महिना-ढ़ेड महिना पहले कोरोना संक्रमण के मामले में एक प्रकार से भारत के बराबर खड़े थे. आज उन देशों में भारत की तुलना में 25 से 35 गुना ज्यादा बढ़ गए हैं. भारत ने होलिस्टिक और इंट्रीग्रेटेड अप्रोच न अपनाई होती तो आज भारत की स्थिति को देखते तो रोए खड़ हो जाते.''
उन्होंने कहा, ''सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन का भारत को बहुत बड़ा लाभ देश को मिला है. अगर सिर्फ आर्थिक दृष्टि से देखें तो बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ी है. लेकिन लोगों की जान की कीमत बहुत है. 24 घंटे हर किसी ने अपना जिम्मा संभालने के लिए लोग आगे आए हैं. विश्वभर में हेल्थ एक्सपर्ट और सरकारों को और ज्यादा सतर्क कर दिया है. भारत में भी अब लड़ाई कैसे आगे बढ़ें और हम विजयी कैसे हो.. हमारे यहां नुकसान कैसे कम हो और लोगों की दिक्कतें कैसे कम हो. इसे लेकर सभी राज्यों के सरकारों और नागरिकों की मानें तो लॉकडाउन को बढ़ाने का सुझाव है. लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला लिया है. 3 मई तक लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला लिया है.''
अपने संबोधन से कुछ घंटे पहले पीएम मोदी ने ट्वीट करके कहा कि आने वाले समय में कोरोनावायरस (Covid-19) के खतरे से मिलकर लड़ने के लिए हमें और ताकत मिल सकती है. पीएम मोदी ने मंगलवार सुबह अपने ट्वीट में कहा, "विभिन्न त्योहारों पर देशभर की जनता को शुभकामनाएं. इन त्योहारों से भारत में भाईचारे की भावना मजबूत होगी. ये त्योहार खुशी और बेहतर स्वास्थ्य भी लाएंगे. आने वाले समय में कोरोनावायरस (Covid-19) के खतरे से मिलकर लड़ने के लिए हमें और ताकत मिल सकती है." 
बता दें कि तमिलनाडु और अरुणाचल प्रदेश ने सोमवार को लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का ऐलान कर दिया है. इन दोनों राज्यों के अलावा ओडिशा, पंजाब, महाराष्ट्र, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और कर्नाटक पहले ही यह कदम उठा चुके हैं.  
########*#####*#####*###
💐🎂💐@🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂
💐(A/4)मध्य प्रदेश /शिवराज की कैबिनेट इसी हफ्ते बनेगी;26 सदस्यीय मंत्रिमंडल होगा,सिंधिया समर्थक 10 नेताओं को मंत्री बनाए जाने की संभावना💐
शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों को महत्वपूर्ण जगह मिल सकती है। सिंधिया ने 10 मार्च को भाजपा जॉइन की थी।
20मार्च को कमलनाथ सरकार केगिरनेकेबाद 23मार्च
को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शपथ ली थी
मंत्रिमंडल नहोने पर कमलनाथ ने तंज कसाथा- संकट के समय राज्य में स्वास्थ्य मंत्री तक नहीं
भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल के इसी हफ्ते शपथ लेने के आसारहैं। मुख्यमंत्री ने सोमवार को इस बात के संकेत दिए कि लॉकडाउन का पहला दौर मंगलवार को समाप्त हो रहा है। अब पार्टी के वरिष्ठ नेताओंसे बात करके मंत्रियों को शपथ दिलाई जा सकती है। बताया जा रहा है कि शिवराज सिंह के मंत्रिमंडल में 10 सिंधिया समर्थकों को मंत्री बनाया जा सकता है। 26 नेता मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। ज्योतिरादित्यसिंधिया ने 10 मार्च को भाजपा जॉइन की थी। उनके समर्थन में 22 विधायकों ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया था। 6 सिंधिया समर्थकों को कमलनाथ मंत्रिमंडल में भी जिम्मेदारी सौंपी गई थी।
20 मार्च को कमलनाथ सरकार के गिरनेके बाद 23 मार्चको मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शपथ ली थी। प्रदेश के इतिहास में ये पहली बार हुआ है, जब किसी मुख्यमंत्री ने बिना मंत्रिमंडल के इतने दिन तक सभी जिम्मेदारियां अकेले संभाली हों। रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी कहा था कि ये कैसी सरकार है, जिसमें इस संकट के समय में स्वास्थ्य मंत्री तक नहीं हैं।
       💐इन लोगों को मिल सकता है मंत्री पद💐
तुलसी सिलावट, इमरती देवी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रभुराम चौधरी, गोविंद सिंह राजपूत के अलावा कांग्रेस छोड़कर आए एंदल सिंह कंसाना और हरदीप सिंह डंग, राजवर्धन सिंह दत्ती गांव और बिसाहू लाल सिंह को मंत्री बनाया जा सकता है। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिलहोने वाले बाकी अन्य 12 विधायकों को भी निगम मंडलों में एडजस्ट किया जाएगा।
     💐अपनों को मनाना सबसे मुश्किल काम💐
मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री समेत 35 मंत्री रह सकते हैं। जो 26 नेता शपथ लेंगे, उनमें अगर 10 सिंधिया समर्थकों को मंत्री बनाया जाता है तो इसके बाद बचे हुए16 स्थानों के लिए भाजपा अपने विधायक दल में से दावेदारों को चुनेगी। इन 16 चेहरों का चुनाव ही सबसे बड़ी चुनौती है, क्योंकि मंत्रिपद के कई दावेदार हैं। कई पुराने चेहरे भी इस बार कतार में हैं। भाजपा के सामने अपनों को मनाना सबसे ज्यादा मुश्किल काम होगा।
        💐क्षेत्रीय संतुलन साधने की कवायद💐
  शिवराज की नई सरकार में सामाजिक समीकरण और क्षेत्रीय संतुलन साधने की कवायद होगी। क्षेत्रीय स्तर पर प्रदेश के सभी संभागों से मंत्री बनाने के साथ सामाजिक समीकरण के स्तर पर क्षत्रिय, ब्राह्मण, पिछड़े, अनुसूचित जाति और आदिवासी समाज को प्रतिनिधित्व दिए जाने की संभावना है। मगरकहीं-कहीं भौगोलिक संतुलन बिगड़ रहा है। सागर जिले की ही बात करें तो वहां से गोपाल भार्गव, भूपेंद्र सिंह के साथ गोविंद सिंह राजपूत भी कैबिनेट में शामिल होने वाले तीसरे दावेदार बन गए हैं। यही हाल रायसेन जिले का है। यहां से प्रभुराम चौधरी के साथ रामपाल सिंह भी मंत्री बनने की दौड़ में हैं। सभी को जगह देना शिवराज के लिए चुनौती है।
💐@🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂
 
 💐(B)आज के दिन जन्म लिये सिक्ख      
           धर्म गुरु गुरु नानक जी का 
                जीवन परीचय💐
    
इनका जन्म रावी नदी के किनारे स्थित
तलवंडी नामक गाँव में कार्तिकी पूर्णिमा
 को एक खत्रीकुल में हुआ था। तलवंडी पाकिस्तान में पंजाब प्रान्त का एक शहर है।कुछविद्वान इनकी जन्मतिथि15 अप्रैल
1469 मानते हैं।किंतु प्रचलित तिथि कार्तिक पूर्णिमा ही है,जो अक्टूबर-नवंबर में दीवाली के 15 दिन बाद पड़ती है।
इनके पिता का नाम मेहता कालूचंद खत्री तथा माता का नाम तृप्ता देवी था। तलवंडी का नाम आगे चलकर नानक के नाम पर ननकाना पड़ गया। इनकी बहन का नाम नानकी था।
       💐विद्यालय के छात्र बालक नानक💐
बचपन से इनमें प्रखर बुद्धि के लक्षण दिखाई देने लगे थे। लड़कपन ही से ये सांसारिक विषयों से उदासीन रहा करते थे। पढ़ने लिखने में इनका मन नहीं लगा। 7-8साल की उम्र में स्कूल छूट गया क्योंकि भगवत्
-प्राप्ति के संबंध में इनके प्रश्नों केआगे अध्यापक ने हार मान लीतथा वे इन्हें ससम्मान घर छोड़नेआ गए। तत्पश्चात् सारा समय वे आध्यात्मिक चिंतन व सत्संग में व्यतीतकरने लगे।बचपन के समयमें कई चमत्कारिक घटनाएंघटींजिन्हें देखकर गाँव के लोगइन्हें दिव्य व्यक्ति
मानने लगे।बचपन के समय से हीइनमें श्रद्धारखनेवालों
में इनकी बहन नानकी तथा गाँव के शासक राय बुलार प्रमुख थे।
 💐 नानक के सिर पर सर्प द्वारा छाया करने का दृश्य       
         देखकर राय बुलार का नतमस्तक होना💐
इनका विवाह बालपन मे सोलह वर्ष कीआयु में गुरदास
-पुर जिले केअंतर्गत लाखौकी नामक स्थान केरहनेवाले
-मूला की कन्या सुलक्खनी से हुआ था। 32 वर्ष की अवस्था में इनके प्रथम पुत्र श्रीचंद का जन्म हुआ। चार वर्ष पश्चात् दूसरे पुत्र लखमीदास का जन्म हुआ। दोनों लड़कों केजन्म केउपरांत 1507 में नानकअपनेपरिवार
का भार अपने श्वसुर पर छोड़कर मरदाना,लहना, बाला और रामदास इन चार साथियों को लेकर तीर्थयात्रा के लिये निकल पडे़।उन पुत्रों में से 'श्रीचंद आगे चलकर 
उदासी संप्रदाय के प्रवर्तक हुए।'
              💐उदासियाँ💐
   💐गुरु नानाक देव जी की यात्राएं💐
गुरुनानक देव जी संसार मे चारों ओर घूम
करउपदेशकरने लगे।1521तक गुरुनानक
जी ने चार बार यात्रा पूरीकी,इन्होने भारत,
अफगानिस्तान,फारस और अरब के मुख्य
मुख्य स्थानों का भ्रमण किया। इन यात्राओं को पंजाबी में "उदासियाँ" कहा जाता है।
                   💐 दर्शन💐
नानक सर्वेश्वरवादी थे। मूर्तिपूजा: उन्होंने सनातन मत की मूर्तिपूजा की शैली के विप
-रीत एक परमात्मा की उपासना का एक अलग मार्ग मानवता को दिया।उन्होंने हिंदू 
धर्म मेफैली कुरीतिओंकासदैव विरोधकिया साथ ही तत्कालीन राजनीतिक,धार्मिक
और सामाजिक स्थितियों पर भी नज़र डाली है। संत साहित्य में नानक उनसंतों की श्रेणीमेंहैं जिन्होंने नारीको बड़प्पन दिया है।
इनके उपदेश का सार यही होताथाकि ईश्वर एक है और उनकीउपासना हिंदू मुसलमान दोनों केलियेहैंमूर्तिपुजा, 
बहुदेवोपासना को ये अनावश्यक कहते थे। हिंदु और मुसलमान दोनों पर इनके मत का प्रभाव पड़ता था।
             💐 हिंदी साहित्य से संबंध💐
हिंदी साहित्य में गुरुनानक भक्तिकाल के अतंर्गत आते हैं। वे भक्तिकाल में निर्गुण धारा की ज्ञानाश्रयी शाखा से संबंध रखते हैं।उनकी कृति के संबंध में आचार्य रामचंद्र शुक्ल'हिंदी साहित्य का इतिहास'में लिखते हैंकि-"भक्तिभाव सेपूर्ण होकर वे जो भजन गाया करते थे उनका संग्रह
 (संवत् 1661) ग्रंथ साहब में किया गया है।
                   💐मृत्यु💐
जीवन के अंतिम दिनों में इनकी ख्याति बहुत बढ़ गई और इनके विचारों में भी परिवर्तन हुआ। स्वयं ये अपने परिवारवर्ग के साथ रहने लगे और मानवता कि सेवा में समय व्यतीत करने लगे। उन्होंने करतारपुर नामक एक नगर बसाया, जो कि अब पाकिस्तान में है और एक बड़ी धर्मशाला उसमें बनवाई। इसी स्थान पर आश्वन कृष्ण 10 संवत् 1597 (22 सितंबर 1539 ईस्वी) को इनका परलोकवास हुआ।
मृत्यु से पहले उन्होंने अपने शिष्यभाई लहना कोअपना उत्तराधिकारी घोषितकिया जो बाद में गुरु अंगद देव के नाम से जाने गए।
                        💐कविताएं💐
नानक अच्छेसूफी कवि भी थे।उनकेभावुक औरकोमल 
हृदय ने प्रकृति से एकात्म होकर जो अभिव्यक्ति की है, वहनिराली है।उनकीभाषाबहता नीर"थी जिसमें फारसी
 मुल्तानी, पंजाबी, सिंधी, खड़ी बोली, अरबी के शब्द समा गए थे।
                        💐रचनाएँ💐
गुरु ग्रन्थ साहिब में सम्मिलित 974 शब्द (19 रागों में), गुरबाणीमें शामिल है-जपजी,Sidh Gohst, सोहिला, 
दखनी ओंकार, आसा दी वार, Patti, बारह माह
                          💐अन्य गुरु💐
सिख संप्रदाय में दस गुरु हुए हैं जिसमें पहले गुरुनानक हैं तथा अंतिम गुरु गोबिंद सिंह हुए हैं-
  1.गुरु नानक देव 2.गुरु अंगद देव   3.गुरु अमर दास
  4.गुरु राम दास   5.गुरु अर्जुन देव  6.गुरु हरगोबिन्द
  7 गुरु हर राय     8.गुरु हर किशन  9.गुरु तेग बहादुर
                      10 गुरु गोबिंद सिंह
     💐इनके जीवन से जुड़े प्रमुख गुरुद्वारा साहिब💐
1. गुरुद्वारा कंध साहिब- बटाला (गुरुदासपुर) गुरु नानक का यहाँ बीबी सुलक्षणा से 16 वर्ष की आयु में संवत्‌ 1544 की 24वीं जेठ को विवाह हुआ था। यहाँ गुरु नानक की विवाह वर्षगाँठ पर प्रतिवर्ष उत्सव का आयोजन होता है।
2. गुरुद्वारा हाट साहिब- सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला) गुरुनानक ने बहनोई जैराम के माध्यम से सुल्तानपुर के नवाब के यहाँ शाही भंडार के देखरेख की नौकरी प्रारंभ की। वे यहाँ पर मोदी बना दिए गए। नवाब युवा नानक से काफी प्रभावित थे। यहीं से नानक को 'तेरा' शब्द के माध्यम से अपनी मंजिल का आभास हुआ था।
3. गुरुद्वारा गुरु का बाग- सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला) यह गुरु नानकदेवजी का घर था, जहाँ उनके दो बेटों बाबा श्रीचंद और बाबा लक्ष्मीदास का जन्म हुआ था।
4. गुरुद्वारा कोठी साहिब- सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला) नवाब दौलतखान लोधी ने हिसाब-किताब में ग़ड़बड़ी की आशंका में नानकदेवजी को जेल भिजवा दिया। लेकिन जब नवाब को अपनी गलती का पता चला तो उन्होंने नानकदेवजी को छोड़ कर माफी ही नहीं माँगी, बल्कि प्रधानमंत्री बनाने का प्रस्ताव भी रखा, लेकिन गुरु नानक ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया।
5.गुरुद्वारा बेर साहिब- सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला) जब एक बार गुरु नानक अपने सखा मर्दाना के साथ वैन नदी के किनारे बैठे थे तो अचानक उन्होंने नदी में डुबकी लगा दी और तीन दिनों तक लापता हो गए, जहाँ पर कि उन्होंने ईश्वर से साक्षात्कार किया। सभी लोग उन्हें डूबा हुआ समझ रहे थे, लेकिन वे वापस लौटे तो उन्होंने कहा- एक ओंकार सतिनाम। गुरु नानक ने वहाँ एक बेर का बीज बोया, जो आज बहुत बड़ा वृक्ष बन चुका है।
6. गुरुद्वारा अचल साहिब- गुरुदासपुर अपनी यात्राओं के दौरान नानकदेव यहाँ रुके और नाथपंथी योगियों के प्रमुख योगी भांगर नाथ के साथ उनका धार्मिक वाद-विवाद यहाँ पर हुआ। योगी सभी प्रकार से परास्त होने पर जादुई प्रदर्शन करने लगे। नानकदेवजी ने उन्हें ईश्वर तक प्रेम के माध्यम से ही पहुँचा जा सकता है, ऐसा बताया।
7. गुरुद्वारा डेरा बाबा नानक- गुरुदासपुर जीवनभर धार्मिक यात्राओं के माध्यम से बहुत से लोगों को सिख धर्म का अनुयायी बनाने के बाद नानकदेवजी रावी नदी के तट पर स्थित अपने फार्म पर अपना डेरा जमाया और 70 वर्ष की साधना के पश्चात सन्‌ 1539 ई. में परम ज्योति में विलीन हुए।
8.ईसवीसंवत 2019सिक्खों केआदिगुरु,गुरुनानक जी
के जन्म का 550 प्रकाश पर्व वर्ष है।9 नवम्बर, 2019  के दिन प्रधानमंत्रीश्री नरेन्द्रमोदी ने पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेराबाबा नानक चेकपोस्ट से गुरुनानक जी के पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त के नारोवाल ज़िले में स्थित समाधि-स्थल पर निर्मित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब या गुरुद्वारा दरबार साहिब कोजोड़ने वाले 4.5 किलोमीटर लम्बे गलियारे के ज़रिये लगभग 500 तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂
         15 अप्रॅल की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ 


1994 - भारत सहित 109 देशों द्वारा 'गैट' समझौते की स्वीकृति।
1998 - थम्पी गुरु के नाम से प्रसिद्ध फ़्रेडरिक लेंज का निधन। 
1999 - पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो तथा उनके पति आसिफ़ अली जरदारी को सरकारी ठेकों में दलाली खाने के आरोप में पांच वर्ष की क़ैद की सज़ा, पाकिस्तान ने परमाणु क्षमता वाले अपने दूसरे प्रक्षेपास्त्र शाहीन-1 का परीक्षण किया। 2000 - आतंकवाद से निपटने के लिए सहयोग के आहवान के साथ जी -77 शिखर सम्मेलन हवाना में सम्पन्न। 
2003 - ब्रिटेन में आयरिश रिपब्लिकन आर्मी ने हथियार डाल देने का निर्णय लिया। 
2004 - राजीव गांधी हत्याकांड से जुड़े लिट्टे उग्रवादी वी. मुरलीधरन की कोलम्बो में हत्या की गयी।
 2006 - इंटरपोल ने जकार्ता सम्मेलन में एंटी करप्शन एकेडमी के गठन का प्रस्ताव सुझाया। 
2008 - राज्यसभा के सभापति मोहम्मद हामिद अंसारी ने बजट सत्र के दूसरे चरण के पहले दिन नव निर्वाचित 55 सदस्यों में से 50 को शपथ दिलायी। भारतीय मूल के कनाडाई मंत्री दीपक ओबेरॉय को अफ़ग़ानिस्तान पर गठित कनाडाई संसद की विशेष समिति का सदस्य चुना गया।
 2010 - भारत में निर्मित पहले क्रायोजेनिक रॉकेट जीएसएलवी-डी3 का प्रक्षेपण नाकाम हो गया।


           15 अप्रॅल को जन्मे व्यक्ति


 1452 - लिओनार्दो दा विंची, इटलीवासी, महान चित्रकार। 
1469 - गुरु नानक - उनमें पैगम्बर, दार्शनिक, राजयोगी, गृहस्थ, त्यागी, धर्मसुधारक, समाज-सुधारक, कवि, संगीतज्ञ, देशभक्त, विश्वबन्धु सभी के गुण उत्कृष्ट मात्रा में विद्यमान थे।
1563 - गुरु अर्जन देव - सिक्खों के पाँचवें गुरु। 
1865 - अयोध्यासिंह उपाध्याय - खड़ी बोली के प्रथम महाकाव्यकार। 
1940 - सुल्तान ख़ान - भारत के प्रसिद्ध सारंगी वादक और शास्त्रीय गायक। 
1946 - फ़्राँसिस्को सार्डिन्हा - भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनीतिज्ञ, जो गोवा के भूतपूर्व मुख्यमंत्री रहे हैं।
 1960 - नरोत्तम मिश्रा - मध्य प्रदेश की राजनीति में 'भारतीय जनता पार्टी' के प्रसिद्ध नेता।
 1972 - मंदिरा बेदी- बालीवुड अभिनेत्री, क्रिकेट ग्लैमर और फैशन की मूर्ति। बाहरी कड़ियाँ
💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂🎂🎂🎂💐💐आजकेदिननिधनहुवे प्रमुखव्यक्तित्🌸


 1985 प्रसिद्ध वैज्ञानिक सिद्धशम्भूनाथ डे का निधन


💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂🎂🎂🎂💐
      (F)आज के दिन/उत्सव का नाम
1-महान चित्रकार लिओनार्दो दा विंची, इटलीवासी,की जयंती ।
2-  गुरु नानक - उनमें  पैगम्बर,दार्श
निक,राजयोगी, गृहस्थ,त्यागी,धर्मसुधारक,
समाज-सुधारक, कवि, संगीतज्ञ, देशभक्त, विश्वबन्धुके सर्वगुन  संपन्न की जयंती।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻


       आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।
      आज जन्म लिये  सभी  व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।
💐।जय चित्रांश।💐
💐जय महाकाल,बोले सो निहाल💐
💐।जय हिंद जय भारत💐