आज की बात आपके साथ - विजय निगम


  प्रिय साथियो। 
🌹राम-राम🌹
🌻 नमस्ते।💐


आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 21अप्रैल 2020 मंगलवार की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।
🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌳🌺🥀🌼🌻
आज की बात आपके साथ  अंक मे है 
A कुछ रोचक समाचार
B आज के दिन जन्मी  प्रसीद्ध टीवी एवं 
फिल्म अभिनेत्रीअदिति गुप्ता का               जीवन परिचय  लेख. 
C आज के दिन   की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    
    व्यक्तित्व
E आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
F आज का दिवस का नाम ।
🔅🌹🌻💐🌸^💮🏵🌷⚘🌱🥀


💐(A)कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)💐


💐(A/1)कोविड-19 के दौर में जीवन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- वक्त बदल रहा है।💐
🔆(A/2)वित्त मंत्रालय ने कहा, केंद्र सरकार के रिटायर्ड कर्मचारियों की पेंशन में नहीं होगी कटौती💐
🔆(A/3)पीएम मोदी के बाद रामायण की सीता ने अटल बिहारी के साथ शेयर की तस्वीर💐
🔆(A/4)Lockdown : मप्र के 26 जिलों में शर्तों के साथ खुले उद्योग-धंधे, हॉटस्पॉट इंदौर, भोपाल, उज्जैन सहित 12 जिलों में कोई छूट नहीं💐
🔅🌹🌻💐🌸^💮🏵🌷⚘🌱🥀


💐(A) कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)💐


🔆(A/1)कोविड-19 के दौर में जीवन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- वक्त बदल रहा है।
प्रधानमंत्रीनरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया पर रविवार को कोविड-19 के दौर में"जीवन" शीर्षक से लिखे एक लेख में अपने विचार साझा किए।इन्हें लिंक्डइन पर लिखते हुए उन्होंने उम्मीदजताई कि यहविचार युवाओं
और व्यवसायियों को रुचिकर लगेंगे। इस लेख में उन्होंने कोरोना महामारी पर चर्चा की है, साथ ही इस लॉकडाउन के दौर में विश्व केनएकारोबारी मॉडलसे लेकरअपनी
बात रखी है।उन्होंने आनेवाले भविष्य और
कार्य संस्कृति में हो रहे बदलावों को भी इंगित किया है। आगे पढ़िए प्रधानमंत्री मोदी ने क्या कुछ लिखा है...
    🔆कोविड-19 के दौर में जीवन🔆
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेलिंक्डइन पर कुछ विचार साझा किए हैंजो युवाओं वव्यवसा
-यियों को दिलचस्प लगेंगे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिंक्डइन पर साझा किए गए विचारों का मूल पाठ निम्नलिखित है।:
“इस सदी के तीसरे दशक की शुरुआत उलझनों से भरी रही है। कोविड-19 के कारण कई तरह की अड़चनें उत्पन्न हो गई हैं। कोरोना वायरस ने व्यवसायी जीवन की रूपरेखा की कायापलट कर डाली है। इन दिनों घर,नए कार्यालय का रूप ले चुका है।इंटरनेट नया मीटिंग रूम है। सहकर्मियों के साथ होनेवालेऑफिस ब्रेक्सकुछ समयके लिए इतिहास बन चुके हैं।मैंभी स्वयं को इन बदलावों के अनुकूल ढालरहा हूं।ज्यादातरबैठकेंचाहें वे मंत्रिमंड
-लीय5फ्रेंसिंगकेजरिए हीहोरही हैं। विविध
हितधारकों से जमीनी स्तर का फीडबैक लेनेकेलिए समाज के अनेक वर्गों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बैठकें की गईं। गैर सरकारी संगठनों, सामाजिक संगठनों औरसामुदायिक संगठनोंके साथ व्यापक विचार-विमर्श किए गए।रेडियोजॉकीज के साथभीसंवादहुआ।इसकेअलावामैंरोजाना
अनेक फोन कॉल्स भीकररहा हूं,समाजके
विभिन्न वर्गों से फीडबैक ले रहा हूं।इनमें सेएक उन तरीकों परगौर करना है,जिनके जरिए इन दिनों लोगअपनाकामकाजजारी
रखे हुए हैं। हमारे फिल्मी सितारों के कुछ रचनात्मक वीडियो आए हैं, जिनमें घर में रहने केबारे में उपयुक्त संदेश दियागया है। हमारे गायकों ने एक ऑनलाइन कॉन्सर्ट शुरूकिया।शतरंज के खिलाड़ियों ने डिजि
-टली शतरंज खेला हैऔर उसके माध्यम सेकोविड-19 केखिलाफ जंग मेंअपना योगदान दिया है।काफी अभिनव है!सबसे 
पहलेकार्यस्थल डिजिटलहोता जा रहा है। और हो भीक्योंन?आखिरकार,प्रौद्योगिकी
का सबसे आमूलचूल परिवर्तन सामान्यत: गरीबोंकेजीवन मेंही हुआहै।यहप्रौद्योगिकी
ही है,जिसने नौकरशाही की हाइरार्की को ध्वस्त कर दिया है, बिचौलियों का सफाया कर दिया है और कल्याणकारी उपायों में तेजी लाई है।
मैं आपको एक उदाहरण देता हूं। जब हमें 2014 मेंसेवा करने काअवसरमिला,हमने 
भारतीयों,विशेषकर गरीबों को जनधन
खातेआधारऔरमोबाइल नम्बर से जोड़ना शुरू किया।इस सरल से दिखने वाले कने
-क्शन नेन केवल दशकों सेजारी भ्रष्टाचार
 और नीतियों में तोड़-मरोड़ करना समाप्त कर दियाबल्कि सरकारको महजएकबटन
क्लिक करके धन हस्तांतरित करने में भी समर्थ बना दिया।इस बटन कीएक क्लिक 
नेफाइलपरचलने वालीहाइरार्की कीसतहों व हफ्तों के विलम्ब को मिटा डाला।भारत केपाससंभवत:विश्व की सबसे विशालतम अवसंरचना है।इसअवसंरचना ने कोविड-
19 कीपरिस्थिति के दौरान धन को गरीबों औरजरूरतमंदों तक सीधे हस्तांतरित कर करोड़ोंपरिवारों को लाभपहुंचाने में हमारी अपार सहायता की है।इसी संबंध में एक 
अन्य बिंदु शिक्षा क्षेत्र है। अनेक उत्कृष्ट व्यवसायी इस क्षेत्र में पहले से नवाचारों में संलग्न हैं।इस क्षेत्र में उत्साहजनक प्रौद्यो
-गिकी के अपने लाभ हैं।भारत सरकार ने शिक्षकों की मदद करने और ई-लर्निंग को प्रोत्साहन देने के लिए दीक्षा पोर्टल जैसे प्रयास भी किए हैं।यहां स्वयं है,जिसका लक्ष्य शिक्षाकी पहुंच, इक्विटी और गुण
वत्ता में सुधार लाना है। अनेक भाषाओं में उपलब्ध ई-पाठशाला विविध ई-पुस्तकों और ऐसी ही शिक्षण सामग्री तक पहुंच बनाने में सक्षम बनाती है।आज,विश्व नए बिजनेस मॉडल्स की तलाश में है।भारत 
अपने नवोन्मेषी उत्साह के लिए विख्यात एकयुवाराष्ट्र है,जो नई कार्य संस्कृतिप्रदान करने में अग्रणीभूमिका निभा सकता है।मैंइस बात की परिकल्पना कररहा हूंकि नए बिजनेस व कार्य संस्कृति को निम्न
लिखित  वाउअल्स(स्वरों) के आधार पर
नए सिरे से परिभाषित किया जा रहा है।मैं उन्हें वाउअल्सऑफ न्यू नॉर्मल करार दे सकता हूंक्योंकिअंग्रेजीभाषाके वाउअल्स की ही भांति ये सभी कोविड-19 पश्चात विश्व मेंकिसीभी बिजनेस मॉडल के लिए
अनिवार्यघटक बन जाएंगे।पीएमने बताया 
क्या हैं- वाउअल्स ऑफ न्यू नॉर्मल
 💐(A)अनुकूलनशीलता(अडैप्टेबिलटी)
आज जरूरत इस बात की हैकिऐसे कोरो
-बार और जीवनशैली के मॉडल्स के बारे में सोचा जाए,जो आसानी से सुलभ हों। ऐसा करने का आशय यह होगा कि संकट कालमेंभीहमारेकार्यालय,कारोबार,व्यापार
किसी प्रकार के जानी नुकसान के बिना त्वरित गतिसे बढ़सकेंगे।डिजिटलभुगतान को अपनाना इस अनुकूलनशीलता  का प्रमुख उदाहरण है।बड़ी और छोटी दुकानों के मालिकोंको डिजिटल साधनों में निवेश करनाचाहिए,जोविशेष संकटकाल में व्या
पारकोजोड़ेरखते हैं।भारत पहले ही डिजि
-टल लेन-देन में उत्साहजनक वृद्धि का गवाह बन रहा है। एक अन्य उदाहरण टेलीमेडिसिन है।हम पहले से ही क्लिनिक या अस्पतालगए बिनाअनेक परामर्श होते
देख रहे हैं। यहभी एक सकारात्मकसंकेत
 है।क्या हम ऐसे बिजनेस मॉडल्स के बारे में विचार कर सकते हैं, जो दुनिया भर में टेलीमेडिसिन कोबढ़ावा देने में मदद करें?
     🎂(E)कुशलता (एफिशन्सी)🔆
शायद, अब समय आ गया है, जब हम इस बारे में फिर से सोच विचार करें कि कुशल होने से हमारा आशय क्या है। कुशलता केवल कार्यालय में बिताया जाने वाला समय नहीं हो सकती। हमें शायद ऐसे मॉडल्स के बारे में सोचना होगा, जहां उत्पादकता और कुशलता उपस्थिति के प्रयास से ज्यादा मायने रखती है। कार्य को निर्दिष्ट समय-सीमा के भीतर पूरा करने पर बल दिया जाना चाहिए।
   💐(I)समावेशिता (इन्क्लूसिविटी)🔆
आइए हम ऐसेबिजनेस मॉडल्स विकसित करें,जो गरीबों, सबसे कमजोर लोगों और साथ ही साथ हमारे ग्रह की देखरेखको प्रमुखता देते हों।हमने जलवायु परिवर्तन
से निपटने की दिशा में महत्वपूर्ण प्रगति की है। प्रकृति मां ने यह दर्शाते हुए  हमारे समक्षअपनीभव्यताप्रदर्शित की है,किजब 
मानवीय गतिविधि की रफ्तार धीमी हो,तो
वह कितनीतेजी सेफल-फूलसकतीहै।
भविष्य मेंहमारे ग्रह पर कम प्रभाव छोड़ने वालीप्रौद्योगिकियों और पद्धतियों कोविक
सित करना महत्वपूर्ण होगा।थोड़े साधनों के साथ ज्यादा कार्य कीजिए।कोविड-19 ने हमें यह अहसास कराया है कि स्वास्थ्य समाधानों पर कम लागत पर और बड़े पैमाने पर कार्य करने की आवश्यकता है।हम मानव के स्वास्थ्य एवं कल्याण को सुनिश्चित करने के वैश्विक प्रयासों के लिए मार्गदर्शक बन सकते हैं।हमें किसी भी तरह के हालात में हमारे किसानों की सूचना,मशीनरी और मंडियों तकपहुंच सुनिश्चित करने केलिए नवाचारों परनिवेश
करनाचाहिए,ताकीआमनागरिकों कीआव
-श्यक वस्तुओं तक पहुंच संभव हो सके।
             💐(O)अवसर💐
हर संकटअपने साथ एक अवसर लाता है। कोविड-19 भी अपवाद नहीं है।आइए हम इस बात का आकलन करें कि अब किस तरह के नए अवसर/विकास के क्षेत्र उभर सकते हैं।कोविड-पश्चात विश्व मेंअनु
-सरण के बजाए, भारत को मौजूदा परि-
पाटियों से आगे बढ़ना चाहिए। आइए हम इस बात पर विचार करें कि ऐसा करने में हमारी जनता, हमारे कौशल, हमारी मूल क्षमताओं का किस प्रकार उपयोग किया जा सकता है।
🌸(U)सार्वभौमवाद (यूनिवर्सलिज्म)🌸
कोविड-19 वारकरने से पहले जाति,धर्म, रंग,संप्रदायभाषा या सीमा कोनहींदेखता। इस संकट के बाद हमारी प्रतिक्रिया और आचरण एकता और भाईचारे कोप्रमुखता देने वाला होना चाहिए। इस घड़ी में हम सब एक हैं।इतिहास की पिछली घटनाओं के विपरीत,जब देशया समाजनेएक-दूसरे से टकराव कियाआज हमसभी एकसमान
चुनौती का सामना कर रहे हैं।भविष्य मैत्री और लचीलेपन से संबंधित होगा।भारत केअगले प्रमुख विचारों की विश्व मेंप्रासंगि
-कता वउनका इस्तेमाल होना चाहिए। उनमें केवल भारत में नहीं, बल्कि समूची मानवता के लिए सकारात्मकबदलावआने 
कीयोग्यता होनी चाहिए।
 🌻 लॉजिस्टिक्स  को  पहले फिजिकल अवसंरचना-सड़कों, गोदामों, बंदरगाहों - के प्रिज्म से देखा जाता था।लेकिन इदिनों
 लॉजिस्टिक्स विशेषज्ञ आराम सेअपने घर बैठकर वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओं को नियंत्रित कर सकते हैं। भारत,कोविड-19
पश्चात के विश्व में फिजिकल और वर्चुअल के सही मिश्रण के साथ जटिल आधुनिक बहुराष्ट्रीयआपूर्तिश्रृंखलाओं केवैश्विककेंद्रों के रूप में उभर सकता है। आइए हम इस अवसर केलिएउठ खड़े होंऔर इसअवसर
 का लाभ उठाएं।मैं आप सभी से अनुरोध करता हूं कि इस बारे में सोच-विचार करें औरइस संवाद में योगदान दें।बीवाईओडी से डब्ल्यूएफएच में बदलाव हमारे समक्ष आधिकारिक व वैयक्तिक केबीच संतुलन कायमकरने की नई चुनौतियांलाया हैचाहे कुछभी हो,फिटनेस और व्यायाम के लिए जरूर समय निकालें।अपनी शारीरिक व मानसिक तंदुरूस्ती को बेहतर बनाने के
साधन केतौर पर योगकाभी अभ्यास करें।
भारत की पारम्परिक चिकित्सा प्रणालियां शरीर कोस्वस्थ रखने के लिए विख्यात हैं। आयुषमंत्रालय स्वस्थरहनेमें सहायकप्रोटो
कॉल लाया है।इन पर भी गौर कीजिए।
अंत में,और सबसे महत्वपूर्ण बात, कृपया आरोग्यसेतुमोबाइलएपडाउनलोडकीजिए।यह एक अत्याधुनिक एप हैजो कोविड
-19 को फैलने से रोकने में मदद करने के लिए प्रौद्योगिकीका इस्तेमाल करताहै।इसे जितना ज्यादा डाउनलोड किया जाएगा, उतनी हीइसकीकार्यकुशलताबढ़ेगी। आप सभी के जवाब का इंतजार रहेगा।
🔅🌹🌻💐🌸^💮🏵🌷⚘🌱🥀
🔆(A/2)वित्त मंत्रालय ने कहा, केंद्र सरकार के रिटायर्ड कर्मचारियों की पेंशन में नहीं होगी कटौती
वित्त मंत्रालय ने रविवारको साफ किया कि केंद्रसरकार केकर्मचारियो की पेंशन में कोय कटौती नहीं होने जा रही है। कुछ
 रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा था कि सरकार पेंशन में 20 फीसदी कटौती करने पर विचार कर रही है। इसके बाद एक ट्विटर यूजर ने वित्त मंत्री निर्मला सीता
रमण से सवाल किया था कि क्या सच में पेंशन में कटौती होने जा रही है? वित्त मंत्रा
लय की ओर से ट्वीट किया गया, 'रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि केंद्र कर्मचारियों के पेंशन में 20 फीसदी कटौती की योजनाहै। यह खबर झूठ है। पेंशन भुगतान में कोई कटौती नहीं की जाएगी। यह साफ किया जाता है कि सरकार के कैश मैनेजमेंट निर्देशों के तहत सैलरी और पेंशन पर कोई प्रभाव नहीं होगा।'मंत्रालय के इस ट्वीट को,वित्त मंत्रीनिर्मला सीतारमण ने भी रीट्वीट किया है। इससे केंद्र सरकार के लाखों पेंशनभोगियों को राहत मिली है। दरअसल, कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लागू लॉकडाउन की वजह से अर्थव्यवस्था काफी प्रभावित हुई है। सरकार ने पिछले दिनों राष्ट्रपति, पीएम से लेकर सांसदों तक के वेतन में कटौती की है। इसी तरह राज्यों ने भी विधायक और बड़े कर्मचारियों के वेतन में कमी की घोषणा की है। 4इसके बाद यह अफवाह भी तेजी से फैलने लगी थी कि सरकार अब रिटायर्ड कर्मचारियों के पेंशन में भी कटौती करने जा रही है।कुछमीडिया रिपोर्ट्स मं भी दावा किया गया कि पेंशन में 20 फीसदी तक कटौती की जा सकती है। इस बीच एक ट्वीटर यूजर ने वित्त मंत्री निर्मलासीतारमणसेट्विटर पर पूछा, 'मैडम जी, सोशल मीडिया और टीवी चैनल्स पर केंद्र सरकार का एक सर्कुलर दिखाया जा रहा है, जिसमें कहा गया है कि पेंशन में 20 पर्सेंट की कटौती की जाएगी। इससे रक्षा पेंशनभोगियों में पैनिक है। क्या यह सच है? कृपया तुरंत स्पष्ट करें।' '
🔅🌹🌻💐🌸^💮🏵🌷⚘🌱🥀🔆
🔆(A/3)पीएम मोदी के बाद रामायण की सीता ने अटल बिहारी के साथ शेयर की तस्वीर, ।
बोलीं'इस महान सख्श के लॉकडाउन की वजह से इन दिनों दूरदर्शन पर कई पुराने धारावाहिकों की वापसी हो गई है। इनमें सबसे ज्यादा चर्चा रामानंद सागर के सीरि
-यल रामायण की है। रामायण के दोबारा प्रसारण ने टीआरपी के कई तोड़ दिए हैं। रामायण मेंश्रीरामनेरावण का वध करदिया है।अब इसके बाद रविवार से उत्तररामायण का प्रसारण शुरू होगा।
रामायणके 33 सालबादवापसी सेएक बार फिर लोगों की पुरानी यादें ताजा हो गई हैं। साथ ही इसमें निभाने वाले हर कलाकार की अचानक पूछ परख बढ़ गई है। इसी के चलते राम का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल और सीता का किरदार करने वाली दीपिकाचिखलिया ट्विटरपर काफीएक्टीव हो गए हैं और अक्सर वो सीरियल और अपनी जिंदगी के जुड़ी पुराने यादें ताजा कर रहे हैं।
हाल ही में दीपिकाचिखलिया ने पूर्व प्रधान
मंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के साथअपनी 
एक तस्वीर शेयर की है। फोटो को शेयर करते हुए दीपिका ने लिखा है-पुरानी यादें, इस महानशख्स सेमिलने का सुनहरामौका मिला था।इस फोटो में अटल बिहारी वाज
-पेयी मुस्कुराते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं दीपिका भी उनके साथ खड़ी काफी खुश दिखाई दे रही हैं।
 कुछ दिन पहले दीपिका ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और लाल कृष्ण आडवाणी के साथ अपनी एक पुरानी तस्वीर शेयर की थी। दीपिका ने इस तस्वीर को शेयर करते हुए ट्वीट किया,एक पुरानी फोटोउससमय की जब मैं वड़ोदरा के चुनाव में खड़ी हुई थी।मेरे साथ दाएं हाथ के कोने पर प्रधान
मंत्री नरेंद्र मोदी बैठे हैं,फिरलाल कृष्णआड
वाणी,मैंऔर चुनाव के इनचार्ज नलिनभट्ट।'
बता दें कि 90 के दशक में दीपिका की बहुत पॉपुलैरिटी थी। इसी के चलते साल 1991 में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर गुजरात के वड़ोदरा लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में उन्होंने जीत हासिल की थी।
🔅🌹🌻💐🌸💮🏵⚘🌱🥀🔆
🔆(A/4)Lockdown : मप्र के 26 जिलों में शर्तों के साथ खुले उद्योग-धंधे, हॉटस्पॉट इंदौर, भोपाल, उज्जैन सहित 12 जिलों में कोई छूट नहीं।💐
भोपाल। कोरोना महामारी को फैलने से रोकनेलिए चल रहे लॉकडाउन में आज से फौरीतौरपर कुछ सशर्त छूटमिलनेलगी है।अगर बात करें मध्यप्रदेश की तो प्रदेश के
आधेजिलों मेंआज सेआर्थिकगतिविधियां शर्तों केसाथ शुरु हो गई है।ऐसे जिले जहां कोरोना के एक भी मरीज नहीं है. वहां पर बाजारभीसोशल डिस्टेंसिंगऔरलॉकडाउन 
के नियमों का पालन करते हुए अंशिक तौर पर खुल गए है।वहीं प्रदेश के कोरोना
केहॉटस्पॉट बनेभोपाल, इंदौरऔर उज्जैन 
में आज भी लोगों को लॉकडाउन से कोई छूटनहीं मिल रही है।लॉकडाउन में मिलने वालीछूटको लेकर खुदमुख्यमंत्री शिवराज
सिंहचौहाननेरविवार रात प्रदेश की जनता 
को संबोधित किया था।
अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने साफ कहा किभोपाल, इंदौर और उज्जैन से जिले जो संक्रमण सेकाफी प्रभावित हैवहां पर कोई छूटअभीनहीं दीजाएगी। संक्रमित इलाकों से कोई मजदूर उद्योग में काम नहीं करेगा और नहीं यहां पर किसीतरह की आर्थिक गतिविधियोंकोकोई छूट दीजाएगी।उन्होंने 
कहाकिजहांछूट दी जाएगीवहां कार्यस्थल
पर बुर्जुग,बच्चेऔर बीमार व्यक्ति बिल्कुल नहींजाए इसको पूरी तरह सुनिश्चित किया जाएगा।इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कंटेन
-मेंट क्षेत्र में किसी के आने जाने पर पूरी तरहसे प्रतिबंध लगाने और उसका कड़ाई सेपालन करनेके निर्देशभी दिए है। उन्होंने कहाकिलोग मास्कलगाकर हीबाहरनिकले औरकहीभीथूकेनहीं।उन्होंने प्रदेशमेंगुटका
पर बैन करने की भी बात कही।
भोपाल,इंदौर में कोई छूट नहीं - कोरोना के हॉटस्पॉट राजधानी भोपाल में वल्लभ भवन(मंत्रालय),सतपुड़ा, विंध्याचल भवन (निदेशालय) के साथ किसी भी सरकारी या निजी दफ्तर को खोलने की कोई छूट नहीं दी गई है।भोपाल में केवल  बैरसिया तहसील में गेहूं के उपार्जन का काम आज से शुरुहो रहा हैइसकेअतिरिक्त पूरेभोपाल में कहीं भी कोई गेहूं उपार्जन नहीं किया जाएगा।
दूसरी ओर इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने भी साफ कर दिया हैं कि लॉकडाउन से अभी कोई छूट नहीं मिलने जा रही है। पहले की तरह अब भी लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जाएगा और किसी को घर से बाहर निकलने की परमिशन नहीं होगी। इंदौर में आज भी पुलिस प्रशासन सख्ती से टोटल लॉकडाउन का पालन करवा रहा है।
12 जिलों में टोटल लॉकडाउन - भोपाल, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, खरगोन, मुरैना, बड़वानी, होशंगाबाद, खंडवा, धार, देवास और विदिशा
14 जिलों में आंशिक राहत – राजगढ़,अलीराजपुर,आगर मालवा, टीकमगढ़, रतलाम, मंदसौर, शाजापुर, सागर, रायसेन, श्योपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, शिवपुरी, ग्वालियर (आज टोटल लॉकडाउन)
26 जिलों को सशर्त राहत – सीहोर, झाबुआ, नीमच, दतिया, दमोह, पन्ना, भिंड, गुना, कटनी, सिवनी, मंडला, बालाघाट, रीवा, सिंगरौली, अशोकनगर, सीधी, नरसिंहपुर, सतना, उमरिया, शहडोल, अनूपपुर, निवाड़ी, छतरपुर, सीहोर, झाबुआ ,नीमच
🌹🌻💐^💮🏵💐🌷⚘🌱🥀🔆


  (B)आज के दिन जन्मी प्रसीद्ध टीवी एवं 
  फिल्म अभिनेत्रीअदिति गुप्ता का जीवन
  परिचय लेख
      अदिति गुप्ता हिंदी टीवी सीरियल और मॉडलिंग दुनिया का जाना माना नाम है। अदिति ने अभिनय की शुरुआत करने से पहले कुछ सालो तक मॉडल के रूप में काम किया था। अभिनय और मॉडलिंग के अलावा अदिति गुप्ता बहुत अच्छी फैशन डिज़ाइनर भी हैं। अदिति को उनके द्वारा दर्शाए गए ‘हीर’ के किरदार के लिए जाना जाता है। 
            उन्होंने कुछ सीरियल में पॉजिटिव और कुछ सीरियल में नेगेटिव किरदारों को दर्शाया है और जनता ने उनके दोनों रूप को बहुत पसंद किया है।अदिति नेसीरियल
 के अलावा कुछ शोज में भी भाग लिया है जैसे ‘ज़रा नचके दिखा’, ‘बॉक्स क्रिकेट लीग’। अदिति ने 2008 से अभिनय करना शुरू किया था। हाल ही में उनको आखरी बार स्टार भारत के सीरियल ‘काल भैरव रहस्य 2’ में देखा गया था।
🔆अदिति गुप्ता का प्रारंभिक जीवन🔆
अदिति का जन्म 21 अप्रैल 1988 को भोपाल, मध्य प्रदेश में हुआ था। उन्होंने अपने स्कूल की पढाई भोपाल से ही पूरी की थी और कॉलेज की पढाई ‘दिल्ली विश्वविद्यालय’ से ‘फैशन डिजाइनिंग’ में पूरी की थी। अदिति के पिता का नाम उमेश गुप्ता है और मम्मी का नाम पुष्पा गुप्ता है। अदिति गुप्ता का 1 भाई है।
अदिति फिलहाल मुंबई में अपने पति कबीर चोपड़ा के साथ रहती हैं। उन्होंने अपने अभिनय की शुरुआत 20 साल की उम्र से ही कर दी थी।एकअच्छी डिज़ाइनर होने की वजह से अदिति अपने लगभग सभी कपडे खुद ही डिज़ाइन करती हैं। अदिति के दोस्त उन्हें ‘चेरी’ या ‘बब्बली’ नाम से बुलाते हैं।
      अदिति को 2008  में एकता कपूर के सीरियल ‘किस देस में है मेरा दिल’ में मुख्य किरदार को दर्शाते हुए देखा गया थाअपनेपहले ही सीरियल से अदिति ने बहुत लोकप्रियता कमाई थी।
🔆अदितिगुप्ता का व्यवसायिक जीवन🔆
अदिति गुप्ता ने अपने करियर की शुरुआत एक मॉडल के रूप में की थी। उन्होंने मॉडलिंग के साथ साथ फैशन डिजाइनिंग की पढाई भी पूरी की थी। अदिति ने 2008 में एकता कपूर के सीरियल ‘किस देस में है मेरा दिल’ से अपने अभिनय की शुरुआत की थी। इस सीरियल में उनके किरदार का नाम ‘हीर’ था।
अदिति केसाथहर्षदचोपड़ा ने इससीरियल
में मुख्य किरदारको दर्शाया था यह सीरि
यल स्टारप्लस पर मार्च 2008से फरवरी 
2010तक दर्शाया गया था।अगरएपिसोड
की बातकरतोइससीरियलके444एपिसोड
दर्शाए गए थे।अदिति ने कुछ बड़े सीरियल जैसे ‘सास भी कभी बहु थी’ और ‘कसौटी ज़िंदगी की’ मेंअपने पहले सीरियल ‘किस देस में है मेरा दिल’ को प्रमोटकरने केलिए कैमिया के रूप में अभिनय किया था।
इस सीरियल को छोड़ने के बाद अदिति ने 2010 में स्टार प्लस के डांस रियलिटी शो ‘ज़रा नचके दिखा’ में कंटेस्टेंट के रूप में भाग लिया था, और शो की विजयता बनी थी। 2010 में ही अदिति को ज़ी टीवी के सीरियल ‘संजोग से बनी संगिनी’ में देखा गयाथा इससीरियल में अदिति के किरदार का नाम ‘प्रियंवदा’/ ‘पीहू’ था। 2011 में अदिति ने इस सीरियल को अलविदा कह दिया था।
2011 में अदिति ने एक और सीरियल ‘ज़िंदगी कहे – स्माइल प्लीज’ में ‘हार्मोनी मोदी’का किरदार अभिनय किया था।यह 
सीरियल लाइफ ओके चैनल पर दर्शाया जाता था। इसके बाद 2012 में अदिति ने ज़ीटीवी के सीरियल ‘पुनर विवाह’ में ‘चाँद बीबी’का किरदारअभिनय कियाथा2013 
में ज़ी टीवी के सीरियल ‘बदलते रिश्तों की दास्तान’ में ‘नंदिनी तिवारी’ का किरदार अभिनय किया था।उसी साल अदिति ने एक और सीरियल ‘ये हैआशिकी’ में ‘गंगा’ के किरदार को दर्शाया था। 2014 में अदिति ने अपना पहला नेगेटिव किरदार लोगो केबीचदर्शाया था।ज़ी टीवी के सीरि
यल‘क़ुबूल है’में अदिति ने ‘सनम इब्राहिम’ और ‘खान बेगन’का नेगेटिव किरदारअभि
नित किया था। इस सीरियल में अदिति के इन दोनों किरदारों को लोगो ने बहुत पसंद कियाथा।अदिति ने इस सीरियल में2014
से 2016 तक काम किया था। 2016 में सीरियल ‘क़ुबूल है’ छोडने के बाद अदिति ने स्टारप्लस के सीरियल ‘परदेस में है मेरा दिल’ में ‘संजना’ का नेगेटिव किरदार भी दर्शको को दर्शाया था।इस किरदार कोभी लोगोनेबहुत पसंद किया था।यह सीरियल नवंबर 2016 से जून 2017 तक ही टीवी पर दर्शाया गया था।2017 में ही अदिति गुप्ता ने स्टार प्लस के एक और सीरियल ‘इश्कबाज़’में ‘रागिनी मल्होत्रा’का किरदार अभिनय किया था।अदिति ने इससीरियल में बहुत कम समय के लिए ही काम किया था। 2018 में अदिति ने स्टार भारत के सीरियल ‘काल भैरव रहस्य 2’ में ‘अर्चि’ 
और अर्चनासिंह’ का किरदारअभिनित किया था।सीरियल केअलावाअदितिगुप्ता ने एकरियलिटी शो बॉक्स क्रिकेट लीग’ में खिलाडी के रूप मेंभाग लियाथा।इसशो के3भागो में अदिति ने क्रिकेटखेला था।
🔆अदिति गुप्ता द्वारा अभिनय किए गए सीरियल, शोज और उनके किरदार🔆
2008 – 2010, स्टार प्लस के सीरियल ‘किस देश में है मेरा दिल’ में ‘हीर’ का किरदार अभिनय किया था।
2010, स्टार प्लस के शो ‘ज़रा नचके दिखा’ में कंटेस्टेंट के रूप में भाग लिया था।
2010 – 2011, ज़ी टीवी के सीरियल ‘संजोग से बानी संगिनी’ में ‘प्रियंवदा’ और ‘पिहू’ का किरदार अभिनय किया था।
2011 – 2012, लाइफ ओके के सीरियल ‘ज़िन्दगी कहे – स्माइल प्लीज’ में ‘हार्मोनी मोदी’ का किरदार अभिनय किया था।
2012, ज़ी टीवी के सीरियल ‘पुनर विवाह’ में ‘चंद बीबी’ का किरदार अभिनय किया था।
2012, ज़ी टीवी के सीरियल ‘हिटलर दीदी’ में कैमियो के रूप में दिखी थी।
2013, ज़ी टीवी के सीरियल ‘बदलते रिश्तो की दास्तान’ में ‘नंदिनी’ के किरदार को अभिनय किया था।
2013, यूटीवी बिंदास के सीरियल ‘ये है आशिकी’ में ‘गंगा’ का किरदार अभिनय किया था।
2014 – 2016, ज़ी टीवी के सीरियल ‘क़ुबूल है’ में ‘सनम इब्राहिम’ और ‘खान बेगम’ का किरदार अभिनय किया था।
2014, सोनी टीवी के शो ‘बॉक्स क्रिकेट लीग’ में प्लेयर के रूप में भाग लिया था।
2016, कलर्स टीवी के शो ‘बॉक्स क्रिकेट लीग 2’ में प्लेयर के रूप में भाग लिया था।
2016 – 2017, स्टार प्लस के सीरियल ‘परदेस में है मेरा दिल’ में ‘संजना’ के किरदार को अभिनय किया था।
2017, स्टार प्लस के सीरियल ‘इश्कबाज़’ में ‘रागिनी मल्होत्रा’ का किरदार अभिनय किया था।
2018, एमटीवी इंडिया के शो ‘बॉक्स क्रिकेट लीग 3’ में प्लेयर के रूप में भाग लिया था।
2018 – 2019, स्टार भारत के सीरियल ‘काल भैरव रहस्या 2’ में ‘अर्चि’ और ‘अर्चना सिंह’ का किरदार अभिनय किया था।
         🔆पुरस्कार और उपलब्धियां🔆
2008, ‘स्टार परिवार अवार्ड्स’ में सीरियल ‘किस देस में है मेरा दिल’ के लिए ‘फेवरेट योग्य जोड़ी’ का अवार्ड मिला था।
2008, ‘न्यू टैलेंट अवार्ड्स’ में सीरियल ‘किस देस में है मेरा दिल’ के लिए ‘बेस्ट न्यू ऑन – स्क्रीन कपल’ का अवार्ड मिला था।
2009, ‘स्टार परिवार अवार्ड्स’ में सीरियल ‘किस देस में है मेरा दिल’ के लिए ‘फेवरेट जोड़ी’ का अवार्ड मिला था।
      🔆अदिति गुप्ता का निजी जीवन🔆
अदिति गुप्ता की लव लाइफ की बात करे तो उनका पहला बॉयफ्रेंड ‘रिज़वान बचाव’ था। इन दोनों ने एक दूसरे को लगभग 5 सालो तक डेट किया था।5 साल बाद इन दोनो ने अलग होने का फैसला लिया था। अदितिगुप्ता ने12 दिसंबर 2018 में कबीर
चोपड़ा’ से मुंबई में ही शादी कर ली है। कबीर चोपड़ा एक बिज़नसमैन हैंफिलहाल
कबीर और अदिति दोनों मुंबई में ही रहते हैं। अदिति के पसंदीदा चीज़ो की बात करे तो उनके पसंदीदा अभिनेता फवाद खान हैं।अदिति की पसंदीदा फिल्म जब वी मेट’ हैं।अदिति बचपन से ही खेल केतरफ बहुत रूचि दिखाती थी। उनके पसंदीदा खेल क्रिकेट, वॉलीबॉल और बैडमिंटन हैं।
अदिति गुप्ता घूमने की भी बहुत शौकीन हैं और उन्हें लंदन में घूमना पसंद है। अदिति उन चुनिंदाअभिनेत्रियों मेंशामिल हैं जिनमे  
अपने पहले सीरियल से ही लोकप्रियता पानी शुरू कर दी थी। अदिति फ़िलहाल अपनी शादीशुदा ज़िंदगी को जी रही हैं और अभी तक उन्होंने किसी तरह के नए प्रोजेक्ट के लिए हामी नहीं बरी है।
 🔆🍁🌱🌻💐🌸💮🏵🌳🌼🍁 🔆(C)आज के दिन की महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाए🔆


1451लोदी वंश का संस्थापक बहलोल खां लोदी दिल्ली का शासक बना।1526मुगल शासक बाबर और इब्राहिम लोदी के बीच पानीपत की पहली लड़ाई में इब्राहिम लोदी मारा गया।
1703आग की (यानी, एक फायर ब्रिगेड) की कंपनी एडिनबर्ग, स्कॉटलैंड में स्थापित की गयी।
1720बाजी राव प्रथम, पेशवा बालाजी विश्वनाथ के उत्तराधिकारी बने।1791वर्जीनिया के अलेक्जेंड्रिया में, संयुक्त राज्य अमेरिका में कोलंबिया के नए जिले की सीमाओं को चित्रित करने वाले चालीस सीमावर्ती पत्थरों में से पहली जोन्स प्वाइंट लाइट पर रखी गई।
1815 पूर्व गढ़वाल साम्राज्य का पूर्वी भाग ब्रिटिश राज के प्रशासन के तहत कुमाऊं विभाजन के साथ जोड़ा गया।1895अमेरिका में विकसित पहले फिल्म प्रोजेक्टर 'पैनटॉप्टिकॉन' का प्रदर्शन किया गया।
1908फ्रेडरिक कुक ने इस तिथि पर उत्तर ध्रुव तक पहुंचने का दावा किया।1938सारे जहां से अच्‍छा हिंदोस्‍ता हमारा... के रचियता उर्दू भाषा के मशहूर शायर मोहम्मद इकबाल का पाकिस्तान के लाहौर में निधन।
1945दूसरे विश्व युद्ध के दौरान सोवियत संघ ने बर्लिन के बाहरी इलाके पर कब्जा किया।
1977मेजर जनरल जियाउर्रहमान बांग्लादेश के राष्ट्रपति नियुक्त।
1983ब्रिटेन में एक पाउंड का सिक्का पेश किया गया।
1987श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में एक बम धमाके में 100 से अधिक लोगों की मौत हुई।
1996भारतीय वायु सेना के संजय थापर को पैराशूट के जरिए उत्तरी धुव्र पर उतारा गया।
2004बसरा में मिसाइल हमले में 68 लोगों की मृत्यु।
2013अाकंड़ों की बाजीगरी में मशीन को मात देने वाली शकुन्‍तला देवी का निधन हुआ।
2016अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मिशेल ओबामा के साथ ब्रिटेन के चार दिन की यात्रा शुरू की।
🔆🍁🌱🌻💐💐🌸💮🏵🌳🌼


💐(D)आजकेदिनजन्मेप्रसिद्ध व्यक्ति💐 


1910 भारत के प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ सदा
शिव त्रिपाठी का जन्म हुआ।
1924 भारतकेप्रसिद्ध कवि पी भास्करण
का जन्म आज के ही दिनहुआ।
1988   भारतीय टेलीविजन की प्रसिद्ध अभिनेत्री अदिति गुप्ता का जन्म आज के ही दिन हुआ।


 🔆🍁🌱🌻💐💐🌸💮🏵🌳🌼


💐(E) आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण       
               व्यक्तित्व 💐 
1838- में भारत के स्वतंत्रता सेनानी   मोहम्मद इकबाल का निधन आज के दिन ही हुआ। 
2010  में स्पेन के प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ जुआन एंटोनियो समरंच  का निधन हुआ। 
2013 भारत की प्रसिद्ध महिला लेखक शकुन्तला देवी का निधन आज ही के दिन हुआ। 
2015 भारत के प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ व मुख्यमंत्री जानकी बल्लभ पटनायक का निधन आज ही के दिन हुआ। 
💐🎂💐🎂@^💐🎂💐🎂💐🎂


 💐(F)आज के दिन/उत्सव का नाम💐


1.भारतीय सिविल सेवा दिवस राष्ट्रीय   
   दिवस
2.भारत के प्रसिद्ध कवि पी भास्करण
   का जन्म दिवस हुआ
3 भारतीय टेलीविजनकी प्रसिद्धअभिनेत्री
   अदिति गुप्ता का जन्मदिवस।
4  स्वतंत्रता सेनानी मोहम्मद इकबाल का        
   पुण्यतिथि दिवस 
5. स्पेन के प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ जुआन 
    एंटोनियो समरंच का पुण्यतिथि दिवस
6. भारत की प्रसिद्ध महिला लेखक एवं     
    गणित के आंकड़ों की कंप्यूटर
    शकुन्तला देवी का पुण्यतिथि दिवस
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻
       आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।
      आज जन्म लिये  सभी  व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।
💐।जय चित्रांश।💐
💐जय महाकाल,बोले सो निहाल💐
💐।जय हिंद जय भारत💐