आई.आई.टी.टी. रणनीति के अन्तर्गत टेस्टिंग और ट्रीटमेंट व्यवस्था का विस्तार

      उज्जैन। कोविड-19 के संक्रमण पर नियंत्रण के लिए आई.आई.टी.टी. रणनीति के तहत टेस्टिंग और ट्रीटमेंट कि दायरे का लगातार विस्तार किया जा रहा है। प्रदेश में 12940 सेंपल टेस्ट के लिए भेजे जा चुके हैं, जिसमें 8,105 सेम्पल की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है। टेस्ट की प्रक्रिया को गति देने के लिए इंडियन कांउसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च, दिल्ली का सहयोग लिया जा रहा है। प्रदेश की 303 संस्थाओं को कोविड समर्पित संस्थान के रूप में चिन्हित किया गया है, जिसमें 20 हजार 243 बैड और 690 वेंटिलेटर उपलब्ध हैं।


      आडडेंटिफिकेशन, आइसोलेशन, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट पर आधारित इस रणनीति के अंतर्गत कोविड-19 के लक्षणों से प्रभावित/संभावित व्यक्तियों की त्वरित जाँच के लिए 1149 मोबाइल हेल्थ टीम और 644 रैपिड रिस्पांस टीम गठित की गई है।


      कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के लक्षण की गंभीरता के आधार पर मरीज को उपचार उपलब्ध कराने के लिए 192 डैडिकेटेड कोविड केयर सेन्टर, 86 डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर और 25 डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल संचालित किये जा रहे हैं।