आज की बात आपके साथ - विजय निगम

प्रिय साथियो। 
🌻राम-राम🌻
🌻नमस्ते🌻


आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का  दिनांक  29 मार्च रविवार कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतू जनता कर्फ्यू व लॉकडाऊन 21 दिव
-सीय मे से 5 वे सफल दिवस एवं नवरात्रि के पंचमदिवस स्कंददेवी के स्वरुप नवरात्रि दिवस की प्रातःकी बेला में आप सभी का हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।
🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻


आज की बात आपके साथ  अंक मे है 


A.कुछ रोचक समाचार 
B. आज के दिन जन्मे थिएटर एवं बॉलीवुड फिल्म के प्रसिद्ध नायक व चरित्र अभिनेता उत्पल दत्त का  जीवन परिचय  लेख. ।
C. आज के दिन   की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
D. आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व
E.आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
F.आज का दिवस का नाम ।
🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻
 
🌻(A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)🌻
 
🌻(A/1)कोरोना से जंग में उतरा BCCI, पीएम-केयर्स फंड में डोनेट किए रुपए 51 करोड़🌻
🌻 (A/2)लॉकडाउन होने के बाद राहुल गांधी ने दिया चौंकाने वाला बयान, खुद मोदी भी होंगे हैरान🌻
🌻(A/3)कोरोना वायरस: मोदी सरकार ने किया ये बड़ा ऐलान, 1 अप्रैल से पूरे देश में होगा लागू।🌻
🌻(A/4) कोरोना के खिलाफ जंग में अक्षय कुमार ने बढ़ाया मदद का हाथ, दान किए 25 करोड़ रुपए🌻


🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻
 
🌻(A) कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)🌻


🌻(A/1)कोरोना से जंग में उतरा BCCI, पीएम-केयर्स फंड में डोनेट किए रुपए 51 करोड़🌻


जानलेवा कोरोना वायरस से लड़ने के लिए भारतीयक्रिकेटकंट्रोलबोर्ड(बीसीसीआई)
ने अपना हाथ बढ़ाया है. बोर्ड ने शनिवार को कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में 51 करोड़ रुपये कादानदिया।बीसीसीआई 
ने कोरोनासेलड़नेमें दियायोगदानजानलेवा
कोरोना वायरस से लड़ने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई)नेअपना
हाथ बढ़ाया है।बोर्ड ने शनिवार को कोरोना महामारीकेखिलाफजंग में 51 करोड़ रुपये का दान दिया है।उसने पीएम-केयर्स फंड में यह राशि जमा कराई है।बीसीसीआई ने अपने बयान में कहा कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह, बीसीसीआई के पदाधिकारियों और संबद्ध राज्य संघोंनेशनिवार को पीएम-केयर्स फंड में राहतकेतौर पर 51करोड़ रुपयेदानकरने की घोषणा की है.
बोर्ड ने कहा,'संकट की इस परिस्थिति का सामना करने के लिए बोर्ड हर संभव मदद के लिएतैयारहै।BCCI प्रधानमंत्रीकीपहल
मेंयोगदानकरेगा.आपातकालीनयासंकटकी स्थितिसे निपटनेके प्राथमिकउद्देश्य केसाथ यह एकसमर्पितराष्ट्रीयकोष(PM-CARES
फंड)है।बोर्ड ने अपने राज्य संघों के साथ भारत सरकार, राज्य सरकारों और अन्य राज्य नियामक निकायों के साथ मिलकर स्थिति परनजर रखी है।इस प्रतिकूलस्थिति में वह राज्य मशीनरी को सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।.
पीएम मोदी ने देशवासियों से अपील करते हुएकहा है,आग्रह करता हूं किपीएम केयर्स फंड में दान करें. इसकी मदद से हम इस लड़ाई को जीतेंगे।
🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻


🌻 (A/2)लॉकडाउन होने के बाद राहुल गांधी ने दिया चौंकाने वाला बयान, खुद मोदी भी होंगे हैरान🌻
कोरोना पूरी दुनिया मे अपने पैर पसार चुका है। इसकी चपेट में लगभग 19000 से ज्यादा लोग आ चुके हैं। इटली में मौत का आंकड़ा 6000 के करीब पहुंच चुका है। भारत मे भी कोरोना से 600 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसको देखते हुए पूरे देश मे 21 दिन का लॉकडाउन घोषित कर दिया है। मोदी द्वारा किये गए लॉकडाउन के बारे में कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने चौंकाने वाला बयान दिया है जिसके बारे में हम आपको बताने वाले हैं।
🌻राहुल गांधीनेकहीचौंकाने वालीबात🌻
राहुल गांधी ने बयान देते हुए कहा है। कि यह एक वैश्विक महामारी है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेहतरीन कदम उठा रहे हैं। राहुल गांधी ने कहा है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए खुद को इस वायरस से बचाना होगा और घरों में ही रहना होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लगाए गए 21 दिनों के लोगों का हम सभी लोगों को मिलकर समर्थन करना होगा। राहुल गांधी ने कहा कि मैं विपक्षी दल का नेता हूं लेकिन इस महामारी के समय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उठाए गए कदम का समर्थन करता हूं और आप सभी लोगों से भी नरेंद्र मोदी के समर्थन की अपील करता हूं।
🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻


🌻(A/3)कोरोना वायरस: मोदी सरकार ने किया ये बड़ा ऐलान, 1 अप्रैल से पूरे देश में होगा लागू।🌻
  कोरोना वायरस से बचने के लिए मोदी सरकार बड़ा कदम उठा रही है। लेकिन भुखमरी सरकार के सामने सबसे बड़ी समस्या है। क्योंकि भारत में बहुत से लोग हर दिन काम करते हैं और अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। नोटबंदी के दूसरे दिन, मोदी सरकार ने जनहित में एक बड़ी घोषणा की, जिसमें अप्रैल के पहले सप्ताह में 8 करोड़ 70 लाख किसानों को 2000 रुपये की किस्त देने का दावा किया गया।
   🌻बड़े राहत पैकेज का ऐलान🌻
वित्तमंत्रीअनुरागठाकुर ने 20 लाख कर्म
-चारियोंके लिएएक राहतपैकेजकी घोषणा
की,जिन्होंने कोरोनावायरस केखिलाफ इस लड़ाई मेंअपना अविस्मरणीय समर्थनदिया
है।इसके तहतआशा कार्यकर्ताओं,पैरामेडि
-कल स्टाफ, तकनीशियनों और डॉक्टरों के लिए 1 लाख 70 हजार करोड़ के राहत पैकेज का दावा किया।
        🌻प्रधानमंत्री अन्न योजना🌻
कोविद-19का पूरी दुनिया में कहर जिसके
कारण वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने 21 दिनों में गरीब लोगोंको प्रधानमंत्रीखाद्य योजना के तहत 5 रुपये प्रति किलोग्राम गेहूं और 1 रुपये प्रति किलो चावल देने का वादा किया है।यही नहीं, कोरोना वायरस से संबंधित सभी प्रकार की सहायता के लिए लगभग सभी राज्यों में कोरोना हेल्प
लाइन सेवा शुरू की गई है। पुलिसकर्मी कभी तो लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर सख्ती बरत रहे हैं। और कभी तो जरूरतमंदों के लिए भगवान बनकर खाना व जरूरी सुविधा देने को आगे आ रहे हैं। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने उन सभी के लिए प्रार्थना की और उनके काम के लिए उनकी प्रशंसा की। साथ ही, अपनी मंगलवार की घोषणा में, मोदी ने स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार के लिएस्वास्थ्य विभाग को 15,000 करोड़ रुपये देने की घोषणा की।
🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻
🌻(A/4) कोरोना के खिलाफ जंग में अक्षय कुमार ने बढ़ाया मदद का हाथ, दान किए 25 करोड़ रुपए🌻
कोरोना वायरस से उपजे संकट के हालात में बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय ने मदद का हाथ बढ़ाया है। कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में केंद्र सरकार ने 'प्रधानमंत्री नरेंद्र नागरिक सहायता एवं आपात स्थिति राहत कोष' के ऐलान के तुरंत बाद अभिनेता अक्षय कुमार ने 25 करोड़ रुपये दान देने की घोषणा की। अक्षय कुमार ने कहा कि मैंने अपनी बचत से पीएम मोदी के PM-CARES फंड में 25 करोड़ रुपये का योगदान करने की प्रतिज्ञा की है। बता दें कि कोरोना के खिलाफ जंग में किसी अभिनेता द्वारा अभी तक इतनी बड़ी रकम राहत कोष में नहीं दी गई है। 
अक्षय कुमार ने पीएम मोदी के ट्वीट को रिट्वीट कर लिखा, 'यह वह समय है जब हम सबके जीवन का सवाल है और हमें कुछ करने की जरूरत है हम जो भी कर सकें। मैं अपनी बचत से 25 करोड़ रुपये का योगदान पीएम राहत कोष में देने की प्रतिज्ञा करता हूं। आओ जीवन बचाएं। जान है तो जहान है।'
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैसे ही 'प्रधानमंत्री नरेंद्र नागरिक सहायता एवं आपात स्थिति राहत कोष' के गठन की घोषणा की,उसके
तुरंत बाद ही अक्षय कुमारने दान काऐलान
कर दिया। पीएम मोदी ने कहा कि स्वस्थ भारत बनाने मेंमदद करेगा।लॉकडाउन पर
अक्षय कुमार ने क्या कहा था।इससे पहले
बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार ने कहा था किकोरोना वायरस की कड़ी को तोड़ने के लिएपूरे देश में किए गए लॉकडाउन की इस घड़ी में जो अपने घर में रहेगा वही सुपरस्टार होगा। अक्षय ने व्यापार विशेषज्ञ जोगिंदर टुटेजा के एक ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रियादेते हुएयह बात कही। दरअसल, जोगिंदर ने किसी एक वीडियो को ट्वीट किया,जिसमें उन्होंने इस बारे में बात की कि किस तरह से टाइगर श्रॉफ 'रैंबो', 'हीरोपंती 2' और 'बागी 4' जैसी अपनी आने वाली फिल्मों से सुपरस्टार बनने के लिएतैयार हैं।इसपरअक्षय ने कहा,जोगिंदर
तुम्हारी इस बात से मैं पूरी तरह से सहमत हूं किटाइगर श्रॉफ आनेवालेसमय मेंधमाल
मचाने वाले हैं,लेकिनइसवक्त एकमात्र वही व्यक्ति सुपरस्टार होगा,जोअपनीऔर अपने परिवारकीसुरक्षा कोसुनिश्चित करनेके लिए घर में रहेगा। मैं हर एकसे सुपरस्टार बनने कीअपील करता हूं।
🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻
 
🌻(B) आज के दिन जन्मे थिएटर एवं बॉलीवुड फिल्म के प्रसिद्ध नायक व चरित्र अभिनेता उत्पल दत्त का जीवन परिचय लेख🌻
  
पूरा नाम:- उत्पल दत्त 
अन्य नाम:- उत्पल दा 
जन्म:- 29 मार्च, 1929 
जन्मभूमि:- बारीसाल, पूर्वी बंगाल
 मृत्यु:- 19 अगस्त, 1993 
अभिभावक:- गिरिजारंजन दत्त 
पति/पत्नी:- शोभा सेन
 संतान:- बिष्णुप्रिया (पुत्री) 
कर्म भूमि:- भारत 
कर्म-क्षेत्र:- हिन्दी तथा बांग्ला सिनेमा
मुख्य फ़िल्में:- 'गोलमाल',
 'सात हिन्दुस्तानी',
 'रंग बिरंगी',
 'अंगूर',
 'कर्तव्य',
 'ईमान धर्म'
, 'शुभ लग्न' आदि।
 शिक्षा:- अंग्रेज़ी साहित्य में स्नातक विद्यालय:- 'सेंट जेवियर कॉलेज', कोलकाता 
पुरस्कार-उपाधि 'फ़िल्म फ़ेयर बेस्ट कॉमेडियन अवार्ड', 'नेशनल फ़िल्म अवार्ड'। 
प्रसिद्धि:- अभिनेता तथा फ़िल्म निर्देशक नागरिकता :-भारतीय
अन्य जानकारी :-1940 में उत्पल दत्त अंग्रेज़ी थिएटर से जुड़े और अभिनय की शुरूआत कर दी। इस दौरान उन्होंने थिएटर कंपनी के साथ भारत और पाकिस्तान में कई नाटक मंचित किए। नाटक 'ओथेलो' से उन्हें काफ़ी वाहवाही मिली थी। 
उत्पल दत्त जन्म- 29 मार्च, 1929, बारीसाल, पूर्वी बंगाल;
 मृत्यु- 19 अगस्त, 1993
आप भारतीय सिनेमा के ऐसे प्रसिद्ध अभिनेता थे, जिन्होंने हिन्दी और बांग्ला फ़िल्मों में अपनी अमिट छाप छोड़ी। एक अभिनेता के रूप में उत्पल दत्त ने लगभग हर किरदार को निभाया। हिन्दी पर्दे पर कभी पिता तो कभी चाचा, कहीं डॉक्टर तो कहीं सेठ, कभी बुरे तो बहुधा अच्छे बने 'उत्पल दा' को दर्शक किसी भी रूप में नहीं भूल सकेंगे। उत्पल दत्त को अधिकतर एक हास्य अभिनेता के रूप में याद किया जाता है। वर्ष 1979 की सुपरहिट फ़िल्म 'गोलमाल' में उनके द्वारा निभाया गया 'भवानी शंकर' का शानदार हास्य अभिनय आज भी याद किया जाता है। उत्पल दत्त एक उच्च दर्जे के अभिनेता ही नहीं, एक कुशल निर्देशक और नाटककार भी थे। सीरियल से लेकर कॉमेडी तक के हर रोल को उन्होंने बड़ी संजीदगी से निभाया था। जन्म तथा शिक्षा उत्पल दत्त का जन्म 29 मार्च, 1929 को पूर्वी बंगाल (ब्रिटिश भारत) के बारीसाल में एक हिन्दू परिवार में हुआ था। इनके ‌पिता का नाम गिरिजारंजन दत्त था, जिन्होंने अपने पुत्र को पढ़ाई के लिए कोलकाता (भूतपूर्व कलकत्ता) भेजा। उत्पल जी ने वर्ष 1945 में मेट्रिक की परीक्षा उत्तीर्ण की और फिर 1949 में 'सेंट जेवियर कॉलेज', कोलकाता से अंग्रेज़ी साहित्य में स्नातक की डिग्री प्राप्त की। 
विवाह:- वर्ष 1960 में उत्पल दत्त ने थिएटर और फ़िल्म एक्ट्रेस शोभा सेन से विवाह किया। 
संतान:-डॉक्टर बिष्णुप्रिया उनकी एक मात्र संतान हैं।
         🌷   फ़िल्मी शुरुआत🌷
 1940 में उत्पल दत्त अंग्रेज़ी थिएटर से जुड़े और अभिनय की शुरूआत कर डाली। शेक्सपियर साहित्य से उत्पल जी का बेहद लगाव था। इस दौरान उन्होंने थिएटर कंपनी के साथ भारत और पाकिस्तान में कई नाटक मंचित किए। नाटक 'ओथेलो' से उन्हें काफ़ी वाहवाही मिली थी। बाद में उत्पल दत्त का रुझान अंग्रेज़ी से बंगाली नाटक की ओर गया। 1950 के बाद उन्होंने एक प्रोडक्‍शन कंपनी जॉइन कर ली और इस तरह उनका बंगाली फ़िल्मों से कैरियर शुरू हो गया। बंगाली फ़िल्मों के साथ उनका थिएटर से प्रेम भी जारी रहा। इस दौरान उन्होंने कई नाटकों को निर्देशन ही नहीं बल्कि लेखन कार्य भी किया। बंगाली राजनीति पर लिखे उनके नाटकों ने कई बार विवाद को भी जन्म दिया।
       🌻 हास्य कलाकार 🌻
1950 में मशहूर फ़िल्मकार मधु बोस ने उन्हें अपनी फ़िल्म 'माइकल मधुसुधन' में लीड रोल दिया, जिसे काफ़ी सराहा गया। इसके बाद उत्पल दत्त ने सत्यजीत रे की फ़िल्मों में भी काम किया। हिन्दी सिनेमा में उत्पल दत्त एक महान् हास्य अभिनेता के रूप में जाने जाते थे। हालांकि उन्होंने बहुत कम फ़िल्मों में काम किया। 'गुड्डी', 'गोलमाल', 'नरम-गरम', 'रंग बिरंगी' और 'शौ‌कीन'। उत्पल दत्त हिन्दी सिनेमा में अत्यंत व्यस्त काफ़ी देर में हुए थे, वैसे बंगाली रंगमंच तथा सिनेमा में उनका बहुत नाम था। उन्होंने हिन्दी फ़िल्मों की अपनी लंबी सूची में बहुधा हास्य प्रधान भूमिकाएँ की थीं। मगर अमिताभ बच्चन की प्रथम फ़िल्म 'सात हिन्दुस्तानी' में वे भी एक हिन्दुस्तानी थे। बल्कि एक तरह से देखा जाय तो उत्पल जी ही मुख्य भूमिका में थे और अमिताभ बच्चन समेत अन्य सभी कलाकार सहायक भूमिकाएँ निभा रहे थे। उसी तरह से सत्तर के दशक में भारतीय समांतर सिनेमा की नींव जिन फ़िल्मों से रखी गई थी, उन प्रमुख कृतियों में 'भुवन शोम' भी थी और उसके नायक भी उत्पल दत्त थे। इस फ़िल्म के अभिनय के लिए उत्पल जी को वर्ष 1970 में श्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला था। मगर हिन्दी सिनेमा में उनको भरपूर प्रतिष्ठा और काम ऋषिकेश मुखर्जी की 'गोलमाल' से मिली, जो न आर्ट फ़िल्म बनाते थे और न ही कमर्शियल फ़ार्मुला फ़िल्म। फ़िल्म 'गोलमाल' फ़िल्म 'गोलमाल' में ऋषिदा (ऋषिकेश मुखर्जी) ने उत्पल दत्त की गंभीर छवि के विपरित 'भवानीशंकर' के एक ऐसे पात्र की भूमिका दी, जिन्हें मूछों से अधिक लगाव था। हीरो अमोल पालेकर सेलेकरदीनापाठक तक के सभी अदाकारों का हास्यअभिनय आज भीएक मिसाल है। किंतुउत्पल दा गंभीर रहकर भी इतना हंसा गए थे किउसवर्ष बेस्ट कमेडियन'काफ़िल्म
फ़ेयरएवार्डउन्हें मिला था।फ़िल्म'गोलमाल' में उत्पल जीजिस अंदाज़ से 'अच्छाआ....' बोलते थे,वो उनका ट्रेड मार्क बन गया था।आजभी मिमिक्रीआर्टिस्टउसतकियाकलाम
को बोलते हैं, तो दर्शक समझ जाते हैं कि वह उत्पल दत्त की नकल कर रहे हैं। हिन्दी फ़िल्मों में फिर तो उनको हलकी-फुलकी भूमिकाएँमिलतींगईं।तबये कौनसोचसकता
था कि बंगाली और हिन्दी मनोरंजन जगत् के इस दिग्गज अभिनेता ने अपना करियर अंग्रेज़ी रंगमंच से प्रारम्भ किया था।  
           🌹 पुरस्कार व सम्मान🌹
फ़िल्म 'गोलमाल' के लिए उत्पल दत्त को 'फ़िल्म फ़ेयर बेस्ट कॉमेडियन अवार्ड' से नवाजा गया था। बंगाली सिनेमा में फ़िल्म 'भुवन शोमे' के लिए उन्हें 'बेस्ट एक्टर' के तौर पर 'नेशनल फ़िल्म अवार्ड' दिया गया था।उत्पल जी के हास्यअभिनय को ऋषि
केशमुखर्जी से ज्यादा शायद हीकिसी अन्य निर्देशक ने काम में लिया होगा। 'गोलमाल' की तरह 'नरम गरम' में भी उनकी जोड़ी अमोल पालेकर के साथ थी और उस में भीउन्हें श्रेष्ठ हास्यअभिनेता'का फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार प्राप्त हुआथा ऋषिदा कीही 'रंग
बिरंगी' नेभीउत्पल दत्त को वही एवार्ड फिर एक बार दिलवाया।किसी एक ही निर्देशक के निर्देशन में किसी एक विभाग में तीन ट्रॉफियाँ जीतने का यह कारनामा विरले ही दिखाई देता है।
        🌹  मार्क्सवादी विचारधारा🌹
उत्पल दत्त 20वीं शदी के प्रोग्रेसिव बंगाली थिएटर के महान् नाटककार थे। हिन्दी सिनेमा में अपनी छाप छोड़ने के बावजूद भी उन्होंने नाटक से नाता नहीं तोड़ा। उत्पल जी बड़े मार्क्सवादी विचारों वाले व्यक्ति थे। वे अक्सर वामपंथी दलों के लिए क्रांतिकारी नाटक करते थे। इस कारण उन्हें कांग्रेस ने 1965 में जेल में भी डाल दिया था। 1970 में प्रतिबंध के बावजूद भी उनके तीन नाटकों- 'दुश्वापनेर नगरी', 'एबार राजर पाला' और 'बेरिकेड' के ‌लिए लोगों की बहुत बड़ी उमड़ी थी।
            🌹  फ़िल्म निर्देशन🌹
बाद के समय में उत्पल दत्त ने बहुत-सी फ़िल्मों का निर्देशन भी किया, जिनमें- 'मेघ', 'घूम भांगर गान', 'झार', 'बेखाखी मेघ', 'मा' और 'इंकलाब के बाद' आदि।
🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻
   
  🌹(C)आज के दिन की एतिहासिक   
                महत्त्वपूर्ण घटनाएँ🌹
29 मार्च कई अहम घटनाओं का दिन है। इसका सम्बंध हमारे सौर मंडल से सबसे बड़े क्षुद्रग्रहों में से एक है।
इसकी सबसे बड़ी खासियत इसकी चमक है। इसकी खोज आज ही के दिन यानी 29 मार्च को ही हुई थी।
एक नएअनुसन्धान में इस बात की संभा
वना जताई गई है कि कभी इस क्षुद्रग्रह पर पानी बहता रहा होगा।उसी ने उसकी सतह पर भूक्षरण के निशान और नाले बनाए हैं।
 
देश के स्वतंत्रता संग्राम में भी 29 मार्च के दिन की खास अहमियत है।
 1857 मेंआज ही के दिन 29 मार्च को मंगल पांडे ने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ विद्रोह की पहली चिंगारी सुलगाई थी, जो देखते ही देखते पूरे देश में आजादी की ज्वाला में बदल गई थी।
1807: जर्मनी के खगोलविद् विल्हेम ओल्बर्स ने क्षुद्रग्रह वेस्ता खोजा। इसे आसमान का सबसे चमकदार छोटा तारा कहा गया।
1849: महाराजा दिलीप सिंह ने अपने दिवंगत पिता रणजीत सिंह का सिंहासन छोड़ दिया और पंजाब पर ईस्ट इंडिया कंपनी का कब्जा हो गया।
1857: कलकत्ता के निकट बैरकपुर में मंगल पांडे ने अंग्रेजी शासन के खिलाफ विद्रोह का बिगुल फूंका।
1859: बहादुर शाह जफर द्वितीय को 1857 की क्रांति में भागीदारी का दोषी पाया गया और अंग्रेज सरकार ने उन्हें देश निकाला देकर रंगून भेज दिया।
1953: हिलैरी तथा तेनजिंग नोर्गे द्वारा विश्व की सर्वोच्च चोटी माउंट एवरेस्ट पर विजय।
1999: उत्तर प्रदेश के कुमायूं और चमोली (अब उत्तराखंड) में आधी रात के ठीक बाद आए 6.8 वेग के भूकंप में 100 से ज्यादा लोगों की मौत।
2002: दिल्ली और बीजिंग के बीच सीधी वाणिज्यिक उड़ान सेवा फिर से शुरू।
1954: राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय नेशनल गैलरी आफ मॉडर्न आर्ट कादिल्ली
में शुभारंभ।
 1857 - सिपाही मंगल पांडे (34 वीं रेजीमेंट), भारत में ब्रिटिश शासन के ख़िलाफ़ बंगाल नेटिव इन्फैंट्री विद्रोहों और लंबे समय से चल रहे 1857 के सिपाही स्वतंत्रता संग्राम में स्वतंत्रता सेनानी के रूप में जाने गये।
 1953 - हिलैरी तथा तेनजिंग नोर्गे द्वारा विश्व की सर्वोच्च चोटी माउंट एवरेस्ट पर विजय।
 1982 - तेलुगु देशम पार्टी (भारत क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टी) एन.टी. रामाराव द्वारा स्थापित करी गयी।
 1999 - पराग्वे के राष्ट्रपति रॉल क्यूबास का इस्तीफ़ा।
 2001 - संयुक्त राज्य अमेरिका का ग्लोबल वार्मिंग पर क्योटो संधि को मानने से इंकार।
 2003 - तुर्की एयरलाइंस विमान के अपहर्त्ताओं ने आत्मसमर्पण किया। 2008 - उज्जैन के संस्कृत विद्वान् प्रो. श्रीनिवास रथ को उत्तर प्रदेश संस्कृति पुरस्कार प्रदान करने की घोषणा की गई। 1971 बैच की आईएएस अधिकारी और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्य सचिव नीरा यादव ने राज्य सरकार की सेवा से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली।
इराक में अमेरिकी बम विस्फोट में 48 लोगों की मृत्यु।
 🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻
   
  🌻(D)आज के दिन जन्मे मह्त्वपुर्ण व्यक्तित्व 🌻


1913 - भवानी प्रसाद मिश्र - हिन्दी के प्रसिद्ध कवि तथा गांधीवादी विचारक। 1928 - रोमेश भंडारी, दिल्ली के उपराज्यपाल तथा त्रिपुरा, गोवा और उत्तर प्रदेश के भूतपूर्व राज्यपाल थे।
 1929 - उत्पल दत्त - हिन्दी तथा बांग्ला फ़िल्मों के प्रसिद्ध अभिनेता और निर्माता। 1943 - जॉन मेजर - ब्रिटेन के प्रधानमन्त्री
🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻
   
    🌻(E)आज के दिन निधन हुवे   
          महत्वपुर्ण व्यक्तित्व 🌻


1963 - सियारामशरण गुप्त, हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्यकार।


🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻
   
आज के दिन महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव


  आर्य समाज स्थापना दिवस (1875)


 🌻💐🌹🌲🌱🌸💮🌸🌱🌲🌹🌻
  
       आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।
      आज जन्म लिये  सभी  व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।
💐।जय चित्रांश।💐
💐जय महाकाल,बोले सो निहाल💐
💐।जय हिंद जय भारत💐