‘विजय दिवस’ समारोह में सैनिकों एवं शहीदों के परिजनों का होगा सम्मान


      उज्जैन। 'विजय दिवस' पर विक्रम कीर्ति मन्दिर में मुख्य समारोह आयोजित किया जायेगा। कार्यक्रम में सबसे पहले विक्रम कीर्ति मन्दिर परिसर में प्रभारी मंत्री श्री सज्जनसिंह वर्मा द्वारा शहीदों को श्रद्धांजली दी जायेगी। इसके बाद ऑडिटोरियम में राष्ट्रगीत का गायन होगा। राष्ट्रगीत के बाद मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के सन्देश का वाचन प्रभारी मंत्री श्री सज्जनसिंह वर्मा द्वारा किया जायेगा। इसके बाद सन 1971 में शहीद हुए सैनिकों के परिजनों एवं सैनिकों का सम्मान शाल एवं श्रीफल से किया जायेगा। इसके बाद देशभक्ति के गीत का गायन होगा। कार्यक्रम में 1971 की लड़ाई में शामिल रहे उज्जैन निवासी सूबेदार श्री कमलकान्त सोनी 1971 के युद्ध के अपने संस्मरणों को सुनायेंगे।
विजय दिवस पर दशहरा मैदान से सद्भावना दौड़
विजय दिवस पर 16 दिसम्बर को प्रात: 9 बजे से दशहरा मैदान से सद्भावना दौड़ प्रारम्भ होकर कोठी पैलेस पर समाप्त होगी। आमजन से इस दौड़ में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने का आव्हान किया गया है।

'विजय दिवस' के कार्यक्रम में शामिल होने की अपील
भारत-पाकिस्तान के बीच 1971 को हुए युद्ध में हुई विजय के उपलक्ष्य पर 16 दिसम्बर को विजय दिवस मनाया जा रहा है। मुख्य कार्यक्रम विक्रम कीर्ति मन्दिर में आयोजित किया जायेगा। कलेक्टर श्री शशांक मिश्र ने 1971 के शहीदों के परिजनों एवं सैनिकों से आव्हान किया है कि वे अधिक से अधिक संख्या में कार्यक्रम में शामिल हों। उन्होंने आमजन से भी इस कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की है।

“विजय दिवस' के कार्यक्रम को लेकर अपर कलेक्टर ने बैठक ली
विजय दिवस 16 दिसम्बर के आयोजन को लेकर अपर कलेक्टर श्री क्षितिज सिंघल ने आज विक्रम कीर्ति मन्दिर में विभिन्प्न विभागों के अधिकारियों की बैठक लेकर तैयारियों को अन्तिम रूप दिया। उन्होंने ग्रुप कैप्टन सेवा निवृत्त श्री मनोज गर्ग को 1971 के शहीदों के परिजनों एवं सैनिकों को कार्यक्रम स्थल तक लाने की जिम्मेदारी सौंपी है। कार्यक्रम स्थल की विभिन्न तैयारियों के लिये जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री नीलेश पारिख, परियोजना अधिकारी श्रीमती कीर्ति मिश्रा, नगर निगम उपायुक्त श्री मनोज पाठक एवं श्री शाह को निर्देशित किया है।