किसान को मालूम ही नहीं और उसकी जमीन का बंटवारा हो गया

बिजली ठीक मिल रही है, यूरिया की दिक्कत है; कलेक्टर ने बड़ागांव में लगाई चौपाल



          उज्जैन। कलेक्टर श्री शशांक मिश्र ने विशेष ग्राम सभा के आयोजन के क्रम में खाचरौद जनपद के ग्राम बड़ागांव में चौपाल लगाई। कलेक्टर ने ग्राम पंचायत भवन पर एकत्रित ग्रामीणों से एक-एक कर प्रश्न पूछे, उनकी शिकायतें सुनी तथा तत्काल उनका समाधान किया। ग्रामीणों ने बताया कि सिंचाई के इस सीजन में बिजली बराबर मिल रही है, यूरिया को लेकर ग्रामीणों ने शिकायत दर्ज कराई कि सोसायटी के सदस्यों को तो युरिया मिल जाता है, किन्तु जो लोग सोसायटी के सदस्य नहीं हैं, उन्हें यूरिया की समस्या आ रही है। कलेक्टर ने ग्रामीणों को बताया कि जिले में एक रैक यूरिया आ रहा है और शीघ्र ही किसानों में इसका वितरण प्रारम्भ हो जायेगा। विशेष ग्राम सभा में आज जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री नीलेश पारिख, एसडीएम श्री पुष्पेन्द्र अहके, परियोजना अधिकारी श्रीमती कीर्ति मिश्रा, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री पॉल सहित जिला एवं जनपद स्तर के विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।


          विशेष ग्राम सभा की कार्यवाही प्रारम्भ होते ही पांडाल में मौजूद ग्रामीणों से कलेक्टर ने नामांतरण, बंटवारा, भू-अधिकार पुस्तिका, खसरे की नकल, स्कूल में शिक्षकों की कमी, शिक्षकों का प्रतिदिन स्कूल आना एवं मध्याह्न भोजन की गुणवत्ता को लेकर पूछताछ की। ग्रामीणों ने कमोवेश सभी मामलों में संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि बिजली के बिल बहुत ज्यादा बढ़कर आ रहे हैं। कलेक्टर ने ग्राम सभा में मौजूद मप्र विद्युत मण्डल के सहायक अभियंता को निर्देशित किया कि वे आगामी 16 दिसम्बर को ग्राम बड़ागांव में ही बिलों के सुधार हेतु शिविर लगायें। इस शिविर में एसडीएम को भी मौजूद रहने के निर्देश दिये गये हैं।


किसान को मालूम ही नहीं और उसकी जमीन का बंटवारा हो गया



          विशेष ग्राम सभा में बड़ागांव के एक किसान भंवरसिंह ने शिकायत की कि उन्हें और उनके परिजनों को पता ही नहीं चला और पैतृक जमीन का बंटवारा वर्ष 2013 में पटवारी द्वारा बाले बाले कर दिया गया। कलेक्टर ने इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए एसडीएम को जांच करने के निर्देश दिये हैं तथा कहा है कि सम्बन्धित पटवारी ने यदि गड़बड़ी की है तो उसके विरूद्ध कार्यवाही का प्रस्ताव भेजा जाये।


          ग्रामीण बद्रीलाल, मुकुंद एवं अन्य ने कलेक्टर से ग्रेडिंग मशीन की मांग की तथा बताया कि गांव में कृषि विभाग के अधिकारी नहीं आते हैं और यदि आते भी हैं तो ग्रामीणों को इसकी खबर नहीं लगती है। कलेक्टर ने वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि वे माह में दो बार इस गांव में आकर विजिट करें तथा योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को प्रदान करें। कृषि अधिकारी अपने आने की सूचना कोटवार के माध्यम से ग्रामीणों को डोंडी पिटवाकर देंगे। इसी तरह प्रभुलाल भेराजी एवं भेरूलाल पाटीदार ने आयुर्वेदिक औषधालय में काम कर रहे दवासाज की पुन: गांव में नियुक्ति करने का आवेदन दिया। कलेक्टर ने इस पर कार्यवाही करने के निर्देश एसडीएम को दिये हैं। बड़ागांव के मुन्नालाल पिता नागूजी ने कलेक्टर से शिकायत की कि उनकी जमीन पर कतिपय व्यक्तियों द्वारा कब्जा कर लिया गया है और वे छोड़ नहीं रहे हैं। कलेक्टर ने इस सम्बन्ध में तहसीलदार को एक सप्ताह में कार्यवाही कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।


          विशेष ग्राम सभा के क्रम में आज ग्राम पंचायत बड़ागांव सेक्टर में ग्राम पंचायत बड़ागांव, संदला, सुरेल, पिपलोदा पंथ, संड़ावदा, सेकड़ीसुल्तानपुर, चावण्ड, लोकोड़ाआंजना, चम्बल पाडलिया एवं नागझिरी में ग्राम सभाएं आयोजित की गई। बड़ागांव ग्राम पंचायत में दोपहर पश्चात उक्त सभी ग्राम पंचायतों के पंचायत सचिव ग्राम सभाओं के प्रतिवेदन लेकर आये एवं प्रतिवेदन कलेक्टर को प्रस्तुत किये। उक्त ग्राम सभाओं में 150 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए एवं इनका मौके पर ही निराकरण किया गया।