केन्द्र सरकार के समक्ष किसी ने नहीं उठाया नुकसान का मुद्दा

  • केन्द्र सरकार ने 7 लाख टन खाद्यान्न खरीदने से किया इन्कार

  • राज्य सरकार यदि बोनस देगी तो केन्द्र सरकार नहीं लेगा खाद्यान्न

  • मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि किसानों का हित हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता



      उज्जैन। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि किसानों को बोनस देने के कारण केन्द्र सरकार ने राज्य सरकार के निर्धारित कोटे से 7 लाख टन खाद्यान्न खरीदने से इंकार कर दिया है। उन्होंने इस बात पर भी अफसोस जताया कि प्रदेश में पिछले दिनों हुई अतिवृष्टि के बाद हुए 8 हजार करोड़ के नुकसान को लेकर प्रदेश के 28 भाजपा सांसदों में से एक ने भी इस मुद्दे को केन्द्र सरकार के समक्ष नहीं उठाया। मुख्यमंत्री ने गत दिवस विधानसभा में प्रश्नोत्तर काल के दौरान अतिवृष्टि के कारण हुई क्षति के संबंध में पूछे गए प्रश्न पर चल रही चर्चा में यह बात कही।


      मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि यह दु:खद है कि किसानों को बोनस देने के कारण केन्द्र सरकार ने राज्य सरकार को पत्र लिखकर सूचित किया है कि प्रदेश से क्रय किये जाने वाले खाद्यान्न के कोटे में से 7 लाख टन खाद्यान्न केन्द्र सरकार नहीं लेगी। नाथ ने कहा कि अतिवृष्टि से हुए नुकसान के लिए भी केन्द्र से पर्याप्त सहायता राज्य सरकार को नहीं मिली।


Popular posts
महाकाल दर्शन हेतु महाकाल एप्प की लिंक एवं वेब साइट
Image
ऑटो पार्ट रिटेलर्स और वर्कशाप की दिक्कतें अब दूर हुईं; ऑटोमोबाइल सर्विस प्रोवाइडर गोमैकेनिक ने वापी में नया स्पेयर पार्ट्स फ्रैंचाइज़ी आउटलेट शुरू किया
Image
पियाजियो व्ही।कल्सऔ ने जयपुर में राजस्था न के अपनी तरह के पहले इलेक्ट्रिक व्हीजकल (ईवी) एक्सेपीरियेंस सेंटर का उद्घघाटन किया
Image
देश की एम्प्लॉयी फ्रेंडली कंपनी में शुमार हुआ पीआर 24x7; फीमेल स्टाफ के मासिक धर्म के लिए उठाया सार्थक कदम
Image
‘‘एक महिला को एक महिला से बेहतर कोई और नहीं समझ सकता’’, यह कहना है एण्डटीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं’ की तन्वी डोगरा का
Image