लॉकडाउन में कार में लगा रखा है "हैंडब्रेक" तो तुरंत हटाएं, हो सकते हैं ये नुकसान..


          लॉकडाउन में जिंदगी ठहर सी गई है। हालांकि कोरोना वायरस जैसी गंभीर बीमारी से बचने का सबसे सही तरीका भी यही है। लॉकडाउन की वजह से अधिकांश लोगों की गाड़ियां भी घर पर ही खड़ी हैं। वहीं कई राज्य भी लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की मांग कर रहे हैं ,अगर ऐसा होता है तो गाड़ियां और लंबे समय तक घर पर ही कैद रह सकती हैं। ऐसे में गाड़ियों की देखभाल भी बेहद जरूरी है। नहीं तो कहीं ऐसा न हो कि लॉकडाउन खुलते ही आपको अपनी गाड़ी पहले सर्विस सेंटर ही ले जानी पड़े। वहीं मारुति सुजुकी इंडिया ने भी अपने ग्राहकों के लिए कार के रखरखाव के लिए कुछ टिप्स दिए हैं (NNI)।


ब्रेक पैड से चिपके हैंडब्रेक तो मामला गड़बड़


         सबसे पहले जिन लोगों ने अपनी गाड़ियों में हैंडब्रेक लगा रखा है, उसे तत्काल हटा दें। ऑटोमोबाइल एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर गाड़ी 10-15 दिन से ज्यादा खड़ी रहती है तो उसके ब्रेक पैड जाम होने की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है। क्योंकि अगर हैंडब्रेक पैड से चिपक गए तो फिर उन्हें बदलना ही पड़ता है। एक्सपर्ट का कहना है कि ऐसे में या तो गियर डाल दें या फिर पार्किंग मोड में छोड़ दें। और सबसे बेहतर तरीका है कि कार के चक्के को लॉक कर दें।  


        एक्सपर्ट का कहना है कि जब लंबे समय तक व्यक्ति अपने वाहन की देखभाल नहीं करता है, तो उसके सामने कई तरह की दिक्कत आती है। उनका कहना है कि गाड़ी के अंदर खाने का भी कोई सामान नहीं होना चाहिए। यदि सामान है तो उसमें फंगस लग जाएगी और चूहों के आने की भी संभावना रहती है। जिससे डैशबोर्ड भी खराब हो सकता है। वहीं कार को कवर करके रखें। धूप में बिलकुल खड़ी न करें क्योंकि उसके पेंट पर असर पड़ सकता है। 


तेल की टंकी रखें फुल


        वहीं एक्सपर्ट का कहना है कि कार को आगे पीछे भी करते रहें। क्योंकि अकसर देखने में आता है कि लोग कार को एक जगह पार्क करके भूल जाते हैं। जबकि ऐसी स्थिति में टायर के फ्लैट होने की संभावना बनी रहती है। साथ ही हवा का प्रेशर भी चेक करना चाहिए। लंबे समय तक गाड़ी खड़ी है तो तेल की टंकी को भी फुल करके रखना चाहिए। खाली टंकी में हवा भरने के साथ-साथ जंग लगने की भी संभावना बनी रहती है (NNI)। 


स्टार्ट जरूर करें बैटरी की बनी रहेगी लाइफ


          इस समय लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर वाहन नहीं चल रहे हैं गाड़ियां खड़ी हैं। इसलिए वाहन स्वामी को हर तीसरे दिन एक बार अपनी गाड़ी को जरूर दो से तीन मिनट के लिए स्टार्ट कर देना चाहिए। इससे उसकी बैटरी सुरक्षित रहती है। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो बैटरी डिस्चार्ज हो सकती है। कभी-कभी बैटरी की प्लेट के खराब होने की संभावना रहती है। स्टार्ट कर देने पर पूरी कार का सिस्टम एक्टिव हो जाता है। ऐसी चलाने पर ब्लोअर जरूर चलाएं, जिससे धूल मिट्टी बाहर निकल जाए।


निकाल दें बैटरी का तार?


         कई जानकारों का कहना है कि आप अपनी कार की बैटरी को डिस्कनेक्ट भी कर सकते हैं। इसके लिए कार के बोनट को खोलकर, उसके टर्मिनल को ढीला करके बैटरी का कनेक्शन हटाया जा सकता है। ऐसे में अगर आपको कार का इस्तेमाल करना पड़ गया, तो इस तार को फिर से जोड़ना पड़ेगा। लेकिन ऐसा बार-बार करने से बैटरी और तार के कनेक्शन की फिटिंग ढीली हो सकती है।


मारुति सुजुकी व्हीकल मेंटेनेंस टिप्स


वहीं मारुति सुजुकी का कहना है कि अपनी गाड़ी को करीब 15 मिनट तक स्टार्ट रखें। बैटरी सही रखने के लिए एक महीने में कम से कम एक बार ऐसा जरूर करें। गाड़ी को स्टार्ट करके इसकी हैडलाइट्स को भी करीब 30 मिनट तक ऑन रखें। ऐसा भी करीब एक महीने में एक बार जरूर करें। वहीं गाड़ी के हैंडब्रेक को हटाकर इसकी जगह टायर स्टॉपर को लगा सकते है (NNI)।


      सावधान रहे..सुरक्षित रहे..घर पर रहे


Comments