आज की बात आपके साथ - विजय निगम

💐प्रिय साथियो💐  
💐राम-राम 💐
💐नमस्कार💐


आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का 
दिनांक 11जनवरी  2020  शनिवार की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।
💐🎂💐@🎂💐🎂#💐🎂💐🎂#💐🎂💐


आज की बात आपके साथ  अंक मे है 


A कुछ रोचक समाचार 
B आज के दिन जन्मे. प्रसिद्ध कवि श्री धर पाठक. का जीवन परिचय  लेख. ।
Cआज के दिन   की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व
E आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
F आज का दिवस का नाम ।
💐💐💐#💐🎂💐@🎂💐#💐🎂💐🎂💐                      
         💐(A) कुछ रोचक समाचार  💐
💐(A/1)जल्द ही किसी एक बैंक के ग्राहक दूसरे बैंक की शाखा या फिर एटीएम में कैश जमा कर सकेंगे💐
💐(A/2)दीपिका की फिल्म / एमपी-छत्तीसगढ़ में 'छपाक' टैक्स फ्री, भाजपा नेता ने कहा- दीपिका का काम नाचने का है, वे वही करें💐
💐 (A/3)बजट 2020: 1 फरवरी को पेश होगा बजट 2020, मोदी सरकार के सामने होंगी ये 10 चुनौतियां💐
💐(A/4)पीएम मोदी की अर्थशास्त्रियों के साथ बैठक में नहीं नजर आईं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, कांग्रेस ने उठाए सवाल💐
💐🎂💐💐💐🎂💐🎂💐💐💐💐💐💐


       💐 (A) कुछ रोचक समाचार 💐
  
💐(A/1)जल्द ही किसी एक बैंक के ग्राहक दूसरे बैंक की शाखा या फिर एटीएम में कैश जमा कर सकेंगे। नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने इसके लिए अपनी तरफ से तैयारी शुरू कर दी है। एनपीसीआई ने इसके लिए देश के सभी बड़े बैंकों को इस बारे में प्रस्ताव भेज दिया है। 
           💐   इस तरह शुरु होगी सुविधा💐
एनपीसीआई का कहना है कि उसके नेशनल फाइनेंशियल स्विच के जरिए ऐसा किया जा सकता है। यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) को भी ऐसे ही लागू किया गया था। इस नई तकनीक को बैंकिंग टेक्नोलॉजी विकास व शोध संस्थान (आईडीबीआरटी) ने तैयार किया है। इस व्यवस्था के लागू होने के बाद कैश परिचालन की लागत में बहुत कमी आ जाएगी, जिसका फायदा पूरे बैंकिंग सिस्टम को मिलेगा। 
      💐 बैंक ग्राहकों को होगा फायदा💐
एटीएम में कैश डिपॉजिट होने से बैंक के साथ ही ग्राहकों को फायदा होगा। जो पैसा एटीएम मशीन में जमा होगा, उसका इस्तेमाल निकासी के लिए भी किया जा सकेगा। ऐसे में बैंकों को बार-बार मशीन में कैश डालना नहीं पड़ेगा। एनपीसीआई ने सभी प्रमुख निजी और सरकारी बैंकों से ऐसा करने के लिए कहा है। हालांकि बैंकों को इस सुविधा से जुड़ने से कई बातों का ध्यान रखना पड़ेगा, जैसे कि नकली नोट की पहचान करना और उनको मशीन से बाहर करने की प्रक्रिया। 
 💐14बैंकों के 30000 एटीएम
                                हो सकते हैंअपग्रेड💐
14 प्रमुख बैंकों के तीस हजार से अधिक एटीएम को पहले चरण में अपग्रेड किया जा सकता है। इसके लिए एटीएम के हार्डवेयर को भी बदलना नहीं पड़ेगा। इस सुविधा के शुरू होने के बाद एसबीआई का कोई ग्राहक एचडीएफसी बैंक की शाखा या फिर एटीएम में जाकर के पैसा जमा कर सकेगा। 
💐फिलहाल इन बैंकों में मिल रही है यह सुविधा💐
हालांकि अभी यूनियन बैंक, केनरा बैंक, आंध्रा बैंक और साउथ इंडियन बैंक में इस तरह की सुविधा पहले से चल रही है। इसके अलावा घोटाले के कारण सुर्खियों में आया पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक भी अपने ग्राहकों को इस तरह की सुविधा दे रहा था। हालांकि इस सुविधा का लाभ लेने के लिए ग्राहकों को शुल्क भी देना होगा। दस हजार रुपये तक के जमा पर 25 रुपये और दस हजार से अधिक के जमा पर 50 रुपये का भुगतान करना होगा। 
💐🎂#💐🎂💐🎂#💐🎂💐🎂@💐🎂💐


💐(A/2)दीपिका की फिल्म / एमपी-छत्तीसगढ़ में 'छपाक' टैक्स फ्री, भाजपा नेता ने कहा- दीपिका का काम नाचने का है, वे वही करें💐
कमलनाथ ने कहा- एसिड अटैक पीड़ित महिलाओं को लेकर सकारात्मक संदेश देती है फिल्म
मप्र के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने हरदा में दिया दीपिका पादुकोण के खिलाफ विवादित बयान 
भोपाल/रायपुर. फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' 10 जनवरी को देशभर में रिलीज हो रही है। रिलीज होने के ठीक एक दिन पहले मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़सरकार ने फिल्म को टैक्स फ्री कर दिया है। इसकी घोषणा खुद सीएम कमलनाथ और भूपेश बघेल ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर की है। वहीं, मप्र केनेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने हरदा में दीपिका पर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा- दीपिका का नाम नाचने का है, वह वहीं करें।
कमलनाथ ने ट्वीट में लिखा है कि दीपिका पादुकोण की एसिड अटैक सर्वाइवर पर बनी फिल्म 'छपाक' 10 जनवरी को रिलीज हो रही है। मध्यप्रदेश में इस फिल्म को टैक्स फ्री करने की घोषणा करता हूं। यह फिल्म समाज में एसिड पीड़ित महिलाओं को लेकर एक सकारात्मक संदेश देने के साथ-साथ उस पीड़ा के साथ आत्मविश्वास, संघर्ष, उम्मीद, और जीने के जज्बे की कहानी पर आधारित है। ऐसे मामलों में समाज की सोच में बदलाव लाने के संदेश पर आधारित है।
दीपिका पादुकोण अभिनीत ऐसिड अटैक सर्वाइवर पर बनी फ़िल्म “
छपाक “ जो 10 जनवरी को देश भर के सिनेमाघरों में रिलीज़ हो गई है  को मध्यप्रदेश में टैक्स फ़्री करने की घोषणा करता हूँ।
        💐  भाजपा नेता का विवादित बयान 💐
जेएनयूमें छात्रों के पक्ष में दीपिका पादुकोण के जाने के बाद हुएविवाद कोलेकर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने प्रतिक्रिया दी है। हरदा में मीडिया के साथ बातचीत में उन्होंने कहा कि दीपिका काम नाचने का है और उन्हें वही काम करना चाहिए। उन्होंने आगे यह भी कहा कि अगर उन्हें राजनीति ही करनी है तो फिर वह पूरी तरह से इसमें उतर जाएं।
 💐सी एम बघेल ने ट्वीट करके दी जानकारी💐
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया-- समाज में महिलाओं के ऊपर तेजाब से हमले करने जैसे जघन्य अपराध को दर्शाती एवं हमारे समाज को जागरूक करती हिंदी फिल्म "छपाक" को सरकार ने छत्तीसगढ़ प्रदेश में टैक्स फ्री करने का निर्णय लिया है। सभी सपरिवार जाएं, जागरूक बने और समाज को जागरूक करें।
समाज में महिलाओं के ऊपर तेजाब से हमले करने जैसे जघन्य अपराध को दर्शाती एवं हमारे समाज को जागरूक करती हिंदी फिल्म "छपाक" को सरकार ने छत्तीसगढ़ प्रदेश में टैक्स फ्री करने का निर्णय लिया है।
आप सब भी सपरिवार जाएं, स्वयं जागरूक बनें और समाज को जागरूक करें।
   💐 12 प्रतिशत कम दाम पर मिलेगी टिकट💐
मप्र फिल्म एसोसिएशन के सचिव अजीजुद्दीन खान ने बताया कि हर टिकट पर 12 प्रतिशत मनोरंजन कर लगता है, जिसे थिएटर संचालक सरकार को देते हैं। फिल्म टैक्स फ्री होने का फायदा जनता को मिलता है। 100 रुपए का टिकट जनता को 88 रुपए का मिलेगा। टिकट की दर 12 फीसदी कम हो जाएगी। इससे पहले मध्यप्रदेश में अक्षय कुमार की फिल्म पेडमैन को टैक्स फ्री किया गया था। पेडमैन की शूटिंग मध्यप्रदेश के महेश्वर में हुई थी।
  💐  मंगलवार को दीपिका पहुंचीं थीं जेएनयू💐
जेएनयू कैंपस में हई हिंसा और छात्रों पर हमले के बाद मंगलवार को दीपिका जेएनयू पहुंची थीं। वहां उन्होंने आंदोलन कर रहे छात्रों से मुलाकात की थी। इसके बाद से सियासत शुरू हो गई थी और वह विपक्ष के निशाने पर आ गई थीं। दिल्ली के भाजपा नेता ने दीपिका की फिल्म छपाक का बॉयकाट करने की अपील भी की थी, जो कि सोशल मीडिया पर ट्रेंड की थी।
💐🎂💐@🎂💐🎂💐🎂#💐🎂💐#🎂💐


💐 (A/3)Budget 2020: 1 फरवरी को पेश होगा बजट 2020, मोदी सरकार के सामने होंगी ये 10 चुनौतियां💐
संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू हो रहा है. बजट सत्र का पहला चरण 31 जनवरी से 11 फरवरी तक और दूसरा चरण दो मार्च से तीन अप्रैल तक चलेगा।. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को बजट पेश करेंगी।. 
                         💐  खास बातें  💐
बजट सत्र का पहला चरण 31 जनवरी से 11 फरवरी तक
बजट सत्र का दूसरा चरण दो मार्च से तीन अप्रैल तक
1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी बजट
               💐  संसद का बजट सत्र -💐
          💐31 जनवरी 2020 से शुरू हो रहा है💐
. बजट सत्र का पहला चरण 31 जनवरी से 11 फरवरी तक और दूसरा चरण दो मार्च से तीनअप्रैल तकचलेगा.
 बजट सत्र के बीच में करीब एक महीने का अवकाश रखा जाता है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण  1 फरवरी को  यूनियन बजट 2020 पेश करेंगी।प्रधानमन्त्री श्री . नरेंद्र मोदी जी के  दूसरे कार्यकाल का यह पहला पूर्णकालिक बजट होगा. गुरुवार को पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) अर्थशास्त्रियों और अर्थव्यवस्था के क्षेत्र से जुड़े एक्सपर्ट्स के साथ मीटिंग करेंगे. इस बैठक का मकसद मौजूदा समय में अर्थव्यवस्था की मंदी पर चर्चा और इससे उबरने के लिए जरूरी उपाय होगा. यह बैठक प्री-बजट चर्चा का हिस्सा है. दिल्ली स्थित नीति आयोग के दफ्तर में यह मीटिंग रखी गई है.
💐  बजट 2020 से जुड़ी 10 खास बातें 💐
बजट 2020 को लेकर जनता की उम्मीदें ज्यादा हैं. माना जा रहा है कि इस बार टैक्स को लेकर मोदी सरकार जनता को ज्यादा राहत देने के मूड में नहीं है.
बजट 2020 ऐसे समय में आ रहा है जब अर्थव्यवस्था लंबे समय से मंदी के खिलाफ संघर्ष कर रही है. सभी क्षेत्रों में कमजोरी के बीच हजारों नौकरियों का नुकसान हुआ है.
मोदी सरकार ने 2024 तक 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य रखा है. अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए उठाए जा रहे कदमों पर सरकार को चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा.
केंद्र सरकार का बजट घाटा चालू वित्त वर्ष में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 3.8 प्रतिशत तक बढ़ सकता है.
अगर सरकार युद्ध, कृषि उत्पादन में गिरावट या अनिश्चित राजकोषीय प्रभाव के साथ संरचनात्मक सुधारों के दौर से गुजर रही है, तो सरकार अपने लक्ष्य से चूक सकती है.
30 सितंबर को खत्म हुई तिमाही में भारत की जीडीपी वृद्धि 6 साल के निचले स्तर 4.5 प्रतिशत तक पहुंच गई. कई अर्थशास्त्रियों और वित्तीय संस्थानों ने इसके लिए खराब मांग और खपत में गिरावट को जिम्मेदार बताया.
मोदी सरकार ने हाल ही में कॉरपोरेट टैक्स में बड़ी कटौती का ऐलान किया था. साथ ही अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए बुनियादी ढांचे में 102 लाख करोड़ रुपए की परियोजना की घोषणा की थी.
इस बीच, सांख्यिकी मंत्रालय ने इस हफ्ते राष्ट्रीय आय का पहला अग्रिम अनुमान जारी किया था. भारत की प्रति व्यक्ति आय में बढ़ोतरी दर्ज की गई थी. सरकार के लिए इसे बरकरार रखना भी किसी चुनौती से कम नहीं होगा.
मोदी सरकार को उम्मीद है कि 2020 की पहली तिमाही तक देश की जीडीपी 5 फीसदी से ज्यादा का लक्ष्य हासिल कर लेगी. अगर ऐसा होता है तो यह 11 वर्षों में विकास की सबसे धीमी गति को चिह्नित करेगा.
वित्त वर्ष 2018-19 में सालाना आर्थिक विकास दर 6.8 प्रतिशत रही थी, जो मार्च 2019 में खत्म हुई. जीडीपी को लेकर विपक्षी दल लगातार सरकार पर हमलावर हैं, ऐसे में जीडीपी में सुधार के लिए भी सरकार के कदमों पर भी विपक्ष की नजर रहेगी।
💐#🎂💐🎂💐#🎂💐🎂@💐💐🎂💐🎂


💐(A/4)पीएम मोदी की अर्थशास्त्रियों के साथ बैठक में नहीं नजर आईं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, कांग्रेस ने उठाए सवाल💐
Budget 2020: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए उठाए जाने वाले कदमों के मद्देनजर 30 से ज्यादा उद्योग विशेषज्ञों और अर्थशास्त्रियों के साथ दो घंटे तक बैठक की।
निर्मला सीतारमण ने बीजेपी नेताओं, मोर्चा प्रमुखों, प्रवक्तओं से बजट 2020 से पहले चर्चा की।
नई दिल्ली: Budget 2020: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को विकास व रोजगार के साथ अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए उठाए जाने वाले कदमों के मद्देनजर 30 से ज्यादा उद्योग विशेषज्ञों और अर्थशास्त्रियों के साथ दो घंटे तक बैठक की. सूत्रों के अनुसार, मोदी ने पांच ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को लेकर अर्थशास्त्रियों को संबोधित किया. सूत्रों ने कहा कि प्रधानमंत्री ने खपत व मांग बढ़ाने के लिए सुझाव लिए. गृहमंत्री अमित शाह, वाणिज्यि मंत्री पीयूष गोयल व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद थे. लेकिन वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण इस बैठक में मौजूद नहीं थीं. इस विषय पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा तो वहीं बीजेपी ने ट्विटर हैंडल के जरिए जानकारी दी कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पार्टी के राष्ट्रीय महासचिवों सहित सभी मोर्चा प्रभारियों और प्रवक्ताओं के साथ बैठक कर बजट से संबंधित सुझाव लिए.।
वहीं कांग्रेस ने नीति आयोग की बैठक की तस्वीर शेयर करते हुए तंज किया, "एक महिला के जिम्मे जो काम है, उसे पूरा करने के लिए कितने पुरुष मौजूद हैं.। कांग्रेस ने कटाक्ष करते हुए कहा कि अगली बार बजट से पहले होने वाली बैठक में निर्मला को भी बुलाया जाए. कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, "यहां एक सुझाव है. अगली बार बजट से पहले होने वाली बैठक में वित्त मंत्री को भी आमंत्रित करने के बारे में विचार किया जाए। निर्मला सीतारमण की गैर
-मौजूदगी के सवालों का जवाब सीतारमण ऑफिस के जरिए भी दिया गया। जहां जानकारी दी गई कि मंत्री जी पहले ही उद्योगपतियों और विशेषज्ञों के साथ प्री बजट बैठक कर परामर्श चुकी हैं। और पीएम मोदी की अगुवाई में हो रही बैठक के दौरान वह पार्टी के राष्ट्रीय महासचिवों सहित सभी मोर्चा प्रभारियों और प्रवक्ताओं के साथ बैठक कर बजट से संबंधित सुझाव ले रहीं थीं.
💐🎂💐#🎂💐🎂💐#🎂💐🎂💐#🎂💐


          (B)आज के दिन जन्मेप्रसिद्ध हिंदी कवि 
       श्रीधर पाठक  का जीवन परिचय लेख


   श्रीधर पाठक (11 जनवरी1858 - 13 सितंबर 1928 प्राकृतिक सौंदर्य, स्वदेश प्रेम तथा समाजसुधार
 की भावनाओ के हिन्दी कवि थे। वे प्रकृतिप्रेमी, सरल, उदार, नम्र, सहृदय, स्वच्छंद तथा विनोदी थे। वे हिंदी साहित्य सम्मेलन के पाँचवें अधिवेशन(1915लखनऊ) 
के सभापति हुएऔर 'कविभूषण' कीउपाधि सेविभूषित 
भीहिंदीसंस्कृत और 5अंग्रेजपर उनका समानअधिकार था
                  💐  जीवन परिचय 💐
उनका जन्म उत्तर प्रदेश में जौंवरी नाम गांव,तहसील
-फ़िरोजाबाद, जिला- आगरा में पंडित लीलाधर के घर हुआ। श्रीधर पाठक सारस्वत ब्राह्मणों के उस परिवार में से थे जो 8 वीं शती में पंजाब के सिरसा से आकर आगरा जिले के जोंधरी गाँव में बसा था। एक सुसंस्कृत परिवार में उत्पन्न होने के कारण आरंभ से ही इनकी रूचि विद्यार्जन में थी। छोटी अवस्था में ही इन्होंने घर पर संस्कृत और फ़ारसी का अच्छा ज्ञान प्राप्त कर लिया। तदुपरांत औपचारिक रूप से विद्यालयी शिक्षा लेते हुए ये हिन्दी प्रवेशिका 1875) और 'अंग्रेजी मिडिल' (1879) परीक्षाओं में सर्वप्रथम रहे। फिर 'ऐंट्रेंस परीक्षा' (1880-81) में भी प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए। उन दिनों भारत में ऐंट्रेंस तक की शिक्षा पर्याप्त उच्च मानी जाती थी। उनकी नियुक्ति राजकीय सेवा में हो गई। सर्वप्रथम उन्होंने जनगणना आयुक्त रूप में कलकत्ता के कार्यालय में कार्य किया। उन दिनों ब्रिटिश सरकार के अधिकांश केन्द्रीय कार्यालय कलकत्ता में ही थे। जनगणना के संदर्भ में इन्हें भारत के कई नगरों में जाना पड़ा। इसी दौरान इन्होंने विभिन्न पर्वतीय प्रदेशों की यात्रा की तथा इन्हें प्रकृति-सौंदर्य का निकट से अवलोकन करने का अवसर मिला। कालान्तर में अन्य अनेक कार्यालयों में भी कार्य किया, जिनमें रेलवे, पब्लिक वर्क्स तथा सिंचाई-विभाग आदि के नाम उल्लेखनीय हैं। धीरे-धीरे ये अधीक्षक के पद पर पहुँचे। 1914 में सेवा-निवृत्त होने के पश्चात ये स्थायी रूप से प्रयाग में रहने लगे। यहीं सन 1928 में इनका देहावसान हो गया।
                💐    रचनाएँ.  💐
इनकी रचनाये क्रमशः इस तरह हैं : मनोविनोद (भाग1,2,3), धन विनय( 1900) गुनवंत हेमंत (1900), वनाष्टक (1912), देहरादून (1915) गोखले गुनाष्टक (1915) इत्यादि। अन्य रचनाएँ हैं- बाल भूगोल, एकांतवासी योगी, जगत सचाई सार, ऊजड़ग्राम, श्रांत पथिक, काश्मीरसुषमा, आराध्य शोकांजलि, जार्ज वंदना, भक्ति विभा, श्री गोखले प्रशस्ति, श्रीगोपिकागीत, भारतगीत, तिलस्माती मुँदरी और विभिन्न स्फुट निबंध तथा पत्रादि।
      इनकी पहली रचना गुनवंत हेमंत है।
            💐    काव्यगत विशेषताएँ.  💐
पाठक जी मौलिक उद्भावनाओं के कवि हैं। विषय और शिल्पदोनों ही दृष्टियों से आधुनिक हिंदी काव्य कोएक
नयामोड़ देने के कारण उन्हें स्वच्छंदभावधारा कासच्चा 
प्रवर्तकठहराया गयाउन्होंने काव्य कोअपेक्षाकृतअधिक 
स्वच्छंद,वैयक्तिक। और यथार्थ भरी दृष्टि से देखने का
सफलप्रयास कियाजिससे आगामी 08
कोबड़ाबल मिलाऔर पूर्वागत परंपरितरूढ़ काव्य ढाँचा टूट गया।सफलअनुवादों द्वारा उन्होंने हिंदी को नई दृष्टि देनेका प्रयत्न किया।यद्यपि उन्होंने ब्रजभाषाऔर खड़ी
बोली दोनों में रचनाएँ कीं तथापि समर्थक वे खड़ीबोली के ही थे।थोड़े में, उनके काव्य की विशेषताएँ हैं -सहजप्रकृति,चित्रण, वैयक्तिक अनुभूति, राष्ट्रीयता, नए छंदों, लयों और बंदिशों की खोज, विषयप्रधान दृष्टि, नवीन भावप्रकाशन की क्षमता से भरकर नवीन65 भाषाप्रयोग, प्राच्य और पाश्चात्य तथा पुराने और नए का समन्वय
💐🎂💐@🎂💐🎂💐#🎂💐🎂💐🎂#💐


💐(C)आज के दिन की महत्त्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाएँ💐
1569 - इंग्लैण्ड में पहली लाटरी का शुभारम्भ हुआ।
1613 - जहाँगीर ने ईस्ट इंडिया कम्पनी को सूरत में कारख़ाना लगाने की अनुमति दी।
1681 - ब्रैडेनबर्ग और फ़्राँस के बीच रक्षा गठबंधन हुआ।
1753 - स्पेन नरेश जोकिन मुरात ने नेपोलियन बोनापार्ट का साथ छोड़ दिया।
1866 - आस्ट्रेलिया जाते समय लंदन नामक जहाज़ में हुई दुर्घटना में 231 व्यक्ति डूब गये।
1942 - द्वितीय विश्वयुद्ध में जापान ने कुआलालंपुर पर अधिकार किया।
1943 - ब्रिटेन और अमेरिका ने चीनी क्षेत्र में अपना दावा वापस ले लिया।
1945 - यूनानी गृहयुद्ध में संघर्ष विराम हुआ।
1955 - भारत के अख़बारी काग़ज़ का उत्पादन प्रारम्भ हुआ।
1962 - हिमस्खलन से पेरुवियन एंडेस गाँव में तीन हज़ार मौतें हुई।
1970 - अलग हुआ बियाफ्रा राज्य नाईजीरियाई सरकार के हमले को नहीं झेल पाया और आत्म समर्पण कर दिया।
1973 - बांग्लादेश को पूर्वी जर्मनी ने मान्यता प्रदान की।
1993 - सुरक्षा परिषद ने खाड़ी युद्धविराम का उल्लघंन करने के लिए चेतावनी दी।
1995 -कार्टहेना, कोलम्बिया में विमान दुर्घटना में 52 व्यक्ति मारे गये।
1996 सोमालिया में दो वर्ष से चल रहे संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिक अभियान समाप्त।
1998 - लुईस फ़्रेचेट (कनाडा) सं.रा. संघ की उपमहासचिव नियुक्त।
1999 - शहरी भूमि सीमा क़ानून निरस्त।
2001 - भारत और इंडोनेशिया के मध्य पहली बार रक्षा समझौता।
2002 - पेट्रोल व डीजल के दामों में कमी। ट्राई ने बी.एस.एन.एल. को एस.टी.डी. दरों में कमी की मंजूरी प्रदान की।
2004 - अहमदाबाद में हुए बलात्कार कांड का आरोपी दिल्ली के नर्सिंग होम से गिरफ़्तार।
2005 -यूक्रेन में दोबारा हुए राष्ट्रपति चुनाव में पश्चिम समर्थक विपक्षी उम्मीदवार विक्टर युश्चेंको विजेता घोषित।
2005 रिलायंस ने बी.एस.एन.एल. को 84 करोड़ रुपये चुकाए।
2006 - ओलकलाहोमा राज्य के जंगलों में लगी आग को अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश ने संघीय आपदा की घोषणा की।
2008 -कांग्रेस की नेतृत्व वाली यूपीए सरकार ने दूसरे राज्य पुनर्गठन आयोग के गठन की रूपरेखा तैयार की।
2008 संघर्ष विराम बहाल करने की लिट्टे की अपील को श्रीलंकाई सरकार ने ठुकराया।
2009 - आईटी कम्पनी सत्यम को बचाने के लिए सरकार ने तीन नामित सदस्यों की नियुक्ति की। अचंता शरत कमल ने 70वीं सीनियर राष्ट्रीय टेबल टेनिस चैम्पियनशिप में पुरुष एकल वर्ग का ख़िताब जीता।
2010 -भारत ने उड़ीसा के बालासोर में हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल अस्त्र के दो सफल परीक्षण किए। इस मिसाइल को भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने विकसित किया है।
2010 भारत ने बांग्लादेश के साथ पांच समझौतों पर हस्ताक्षर किया जिसमें उसे विकास संबंधी परियोजनाओं के लिए एक अरब डॉलर ऋण देने का वादा शामिल है। इनमें आतंकवाद निरोधी सहयोग को बढ़ाने के लिए तीन सुरक्षा समझौते शामिल हैं।
2011 दिल्ली उच्च न्यायालय की तीन जजों की पीठ ने फ़ैसला सुनाया है कि भारत के उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के दफ़्तर के लिए भी सूचना का अधिकार (आरटीआई) क़ानून के तहत सूचना देना अनिवार्य है।
💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂
    💐(D)आज के दिन  11 जनवरी को जन्मे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व💐
1944 - शिबु सोरेन, भारतीय राजनीतिज्ञ
1973 - राहुल द्रविड़, भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी
1860 - श्रीधर पाठक - भारत के प्रसिद्ध कवियों में से एक।
1842 - विलियम जेम्स - प्रसिद्ध अमरीकी दार्शनिक तथा मनोवैज्ञानिक।
💐🎂💐@🎂💐🎂💐🎂💐#🎂💐🎂💐


  💐 (E) आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।💐
1966 - लाल बहादुर शास्त्री, भारत के प्रधानमन्त्री
2008 - सर एडमंड हिलारी, माउन्ट एभरेस्ट के प्रथम आरोहनकर्ता और समाजसेवी
2014 - एरियल शेरॉन, इज़राइल के प्रधानमन्त्री
💐🎂💐🎂💐🎂💐0💐🎂💐🎂💐🎂💐
        💐 (F)आज का दिवस का नाम 💐
  1. स्व.लाल बहादुर शास्त्री पुण्यतिथि दिवस
  2 सूचना का अधिकार स्थापना दिवस
  3 सुप्रसिद्ध मनोवैज्ञानिक  सर विलियम जेम्स जयंती
  4 अखबारी कागज निर्माण स्थापना दिवस
  5 विश्व हास्य दिवस
💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐🎂💐0💐
आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।
      आज जन्म लिये  सभी  व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।
💐।जय चित्रांश💐।
💐जय महाकाल,बोले सो निहाल।💐
💐जय हिंद जय भारत💐


 💐 निवेदक;-💐


  💐 चित्रांश - विजय निगम💐


Comments