फसल बीमा कराने की अन्तिम तिथि 31 दिसम्बर


      उज्जैन। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना रबी 2019-20 के क्रियान्वयन के लिये उज्जैन जिले में न्यू इण्डिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड का चयन किया गया है। फसल बीमा कराने की अन्तिम तिथि 31 दिसम्बर नियत की गई है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक श्री सीएल केवड़ा ने जिले के किसानों से अनुरोध किया है कि जिस बैंक से उनका किसान क्रेडिट कार्ड बना है वे उस बैंक में जाकर फसल बुवाई प्रमाण-पत्र एवं पटवारी हलके की जानकारी से अवगत करायें। अऋणी व डिफाल्टर किसानों से आग्रह है कि वे अन्तिम तिथि का इंतजार न करते हुए शीघ्र ही अपने पास की बैंक शाखा जैसे सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक तथा राष्ट्रीयकृत बैंक में फार्म जमा करायें, ताकि उनकी फसलों का बीमा हो सके।


      कृषि विभाग के उप संचालक ने किसानों से अनुरोध किया है कि वे फसल बीमा कराने के लिये बीमा प्रस्ताव पत्र, भू-अधिकार पुस्तिका की फोटोकापी, बोवनी का प्रमाण-पत्र, सम्बन्धित पटवारी या पंचायत सचिव से प्राप्त करें, आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड या पेन कार्ड इत्यादि में से कोई एक, बैंक पासबुक की फोटोकापी अनिवार्य रूप से ले जायें। किसानों से अनुरोध किया है कि वे अपनी फसलों का बीमा आवश्यक रूप से करायें, ताकि किसी भी प्रकार की फसल नुकसानी होने पर उसकी भरपाई हो सके।


विकास खण्ड स्तर पर शिविरों का आयोजन होगा
      'जय किसान फसल ऋण माफी योजना' अन्तर्गत जिन कृषकों ने गुलाबी फार्म-1 व फार्म-2 भरे हैं, वे समस्त किसान हितग्राही अपने प्रकरणों के निराकरण के लिये समस्त आवश्यक दस्तावेजों के साथ सम्बन्धित बैंक शाखा में 23, 24, 26, 27 दिसम्बर 2019 तथा 1 एवं 2 जनवरी 2020 को उपस्थित होना सुनिश्चित करें। सम्बन्धित बैंक शाखा द्वारा उचित कार्यवाही की जा सके। यदि खाताधारक की बैंक शाखा में उपस्थिति के पश्चात प्रकरणों का निराकरण नहीं हो पाता है तो अपने सम्बन्धित जनपद पंचायत कार्यालय में 4, 6 व 7 जनवरी 2020 को शिविर आयोजित होंगे, उनमें किसान अपने समस्त दस्तावेजों सहित उपस्थित होकर अपने प्रकरण का निराकरण करायें। आवश्यक दस्तावेज हितग्राही का आधार कार्ड, बैंक द्वारा प्रदाय केसीसी ऋण पुस्तिका, खसरा बी-1, खाताधारक के मृत्यु के प्रकरण में मृत्यु प्रमाण-पत्र एवं उनका आधार कार्ड तथा वारिस होने का प्रमाण-पत्र एवं उनका आधार कार्ड साथ ले जायें।


Comments