लोक अदालत में हुआ 510 प्रकरणों का निराकरण


      उज्जैन। विगत शनिवार को आयोजित की गई नेशनल लोक अदालत में 39 खण्डपीठों में कुल 6700 प्रकरण रखे गये, जिसमें से 510 प्रकरणों का निराकरण हुआ, 960 से अधिक पक्षकार लाभान्वित हुए तथा तीन करोड़ 40 लाख रुपये के अवार्ड पारित किये गये।
      जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री एस.के.पी.कुलकर्णी की अध्यक्षता में आयोजित नेशनल लोक अदालत में श्री विजय कुमार पांडेय, विशेष न्यायाधीश/संयोजक, नेशनल लोक अदालत, उज्जैन, श्री अशोक यादव, अध्यक्ष मं.अ.सं., उज्जैन, श्री पद्मेश शाह, सचिव, जि.वि.से.प्रा. उज्जैन, के साथ-साथ जिला मुख्यालय पर पदस्थ समस्त न्यायाधीशगण, समस्त अधिवक्तागण आदि उपस्थित थे। नेशनल लोक अदालत सफल निराकरण हेतु जिला एवं तहसील स्तरों पर कुल 36 खंडपीठों का गठन किया गया हैं जिसमें लगभग 6700 प्रकरण रखे गए हैं।
       श्री एस.के.पी.कुलकर्णी, जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, उज्जैन द्वारा बताया गया कि-उक्त नेशनल लोक अदालत में विभिन्न न्यायालयों में लंबित-आपराधिक प्रकरण, धारा 138 एनआई एक्ट, बैंक ऋण वसूली, सिविल प्रकरण, घरेलु हिंसा अधि. के प्रकरण, हिन्दु विवाह अधिनियम के प्रकरण, धारा 125 भरण पोषण प्रकरण, विद्युत चोरी, संपत्तिकर वसूली, जलकर वसूली एवं समस्त रखे गए प्रिलिटिगेशन प्रकरणों का निराकरण आपसी सहमति से राजीनामा के माध्यम से किया गया।
       म.प्र.प.क्षै.वि.वि.कं.लि. द्वारा विद्युत चोरी एवं बकाया विद्युत देयकों की वसूली संबंधी प्रकरणों में विभिन्न प्रकार की छूट का लाभ दिया गया। नगर पालिका निगम के जलकर एवं संपत्तिकर की वसूली संबंधी प्रिलिटिगेशन प्रकरणों का निराकरण, पक्षकार के निवास क्षैत्र से संबंधित झोन कार्यालय में ही किया गया।