कलेक्टर के निर्देश : किसी भी प्रकार के प्रकरण लम्बित न रहे, समय-सीमा में निपटारा करें


      उज्जैन। कलेक्टर शशांक मिश्र ने जिले के समस्त राजस्व अधिकारियों के द्वारा किये जाने वाले कार्यों की पाक्षिक समीक्षा बैठक लेकर निर्देश दिये कि किसी के भी न्यायालय में किसी भी प्रकार के प्रकरण लम्बित न रहे। प्रकरणों का समय-सीमा में निपटारा किया जाना सुनिश्चित करें। राजस्व अधिकारी योजनाओं का भलीभांति अध्ययन कर प्रकरणों का निराकरण किया जाये। आर्थिक सहायता के प्रकरणों का त्वरित निराकरण कर सम्बन्धित हितग्राही को राशि उपलब्ध करवाई जाये। राजस्व वसूली पर भी विशेष ध्यान दिया जाये।


      बैठक में कलेक्टर ने 100 एवं 300 दिवस से अधिक लम्बित शिकायतों की समीक्षा कर सीएम हेल्पलाइन की अनुविभागवार समीक्षा की। कलेक्टर ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि एल-1, एल-2, एल-3 एवं एल-4 की लम्बित शिकायतों का निराकरण कर शिकायत बन्द की जाये। बैठक में न्यायालयीन प्रकरणों में अधिकारी कोताही न बरते, समय पर प्रकरणों का जवाब प्रस्तुत किया जाये। कलेक्टर ने अधिकारियों को चेतावनी दी कि राजस्व न्यायालय में अधिक समय के प्रकरणों का निराकरण न होने पर उनके विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही की जायेगी। कलेक्टर ने वित्तीय वर्ष 2018-19 में दिये गये लक्ष्य अनुसार शत-प्रतिशत वसूली करने के निर्देश दिये। बैठक में सीएम हेल्पलाइन, आरसीएमएस, समयावधि-पत्रों, व्यवहार न्यायालय, अपर कलेक्टर न्यायालय, जिला भू-अर्जन, सदर वसूली बाकी नवीस, भू-अभिलेख, संस्कृति से जुड़ी शिकायतों की समीक्षा कर समय-सीमा में निराकरण किया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।


बैठक में अपर कलेक्टर क्षितिज सिंघल, सहायक कलेक्टर अभिषेक चौधरी, अपर कलेक्टर जीएस डाबर, जिले के समस्त राजस्व अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार, अपर तहसीलदार, नायब तहसीलदार आदि अधिकारी उपस्थित थे।


Comments